धरोहर प्रेमियों के लिए 16 अक्टूबर से खुलेगी बंबई उच्च न्यायालय की इमारत

धरोहर प्रेमियों के लिए 16 अक्टूबर से खुलेगी बंबई उच्च न्यायालय की इमारत

Edited By: , October 14, 2021 / 09:01 PM IST

मुंबई, 14 अक्टूबर (भाषा) मुंबई में पर्यटन को बढ़ावा देने के महाराष्ट्र सरकार के प्रयासों के तहत बंबई उच्च न्यायालय की इमारत को 16 अक्टूबर से धरोहर प्रेमियों के लिए खोल दिया जाएगा। एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि इस पहल को बंबई उच्च न्यायालय और टूरिस्ट गाइड एसोसिएशन के सहयोग से पर्यटन निदेशालय (डीओटी) द्वारा लागू किया जा रहा है।

डीओटी द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, आगंतुक सप्ताहांत में सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक इमारत में आ सकेंगे और प्रत्येक ‘धरोहर यात्रा’ की अवधि एक घंटे की होगी।

बयान में कहा गया है कि शनिवार और रविवार को मराठी, अंग्रेजी और हिंदी में कुल तीन ‘धरोहर यात्रा’ आयोजित की जाएंगी। भारतीय पर्यटकों के लिए प्रति यात्रा 100 रुपये (कर अतिरिक्त) का प्रवेश शुल्क होगा जबकि विदेशी पर्यटकों से 200 रुपये (कर अतिरिक्त) लिए जाएंगे।

प्रमुख सचिव (पर्यटन) वलसा नायर सिंह ने कहा कि इस इमारत की समृद्ध विरासत, इतिहास और वास्तुकला के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए विभाग ने उच्च न्यायालय के संबंधित अधिकारियों के अनुमोदन और मार्गदर्शन के साथ ‘धरोहर यात्रा’ का प्रस्ताव दिया है।

बंबई उच्च न्यायालय देश के सबसे पुराने उच्च न्यायालयों में से एक है और इसका उद्घाटन 14 अगस्त, 1862 को हुआ था। मौजूदा भवन का काम अप्रैल 1871 में शुरू हुआ और नवंबर, 1878 में पूरा हुआ। इसे 2018 में विश्व धरोहर स्थलों की सूची में शामिल किया गया था।

भाषा अविनाश पवनेश

पवनेश