शिवसेना ने मुंबई में हुए बलात्कार-हत्या मामले में ‘जौनपुर पैटर्न’ होने का आरोप लगाया

शिवसेना ने मुंबई में हुए बलात्कार-हत्या मामले में 'जौनपुर पैटर्न' होने का आरोप लगाया

Edited By: , September 13, 2021 / 09:33 PM IST

मुंबई, 13 सितंबर (भाषा) शिवसेना ने सोमवार को कहा कि साकीनाका के उपनगरीय इलाके में एक महिला के साथ हुए बलात्कार और नृशंस हत्या मामले की गहन जांच से पता चलेगा कि मुंबई में ‘‘जौनपुर पैटर्न’’ ने कितनी ”गंदगी” पैदा कर दी है।

पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा गया है कि पुलिस अपना काम कर रही है। पार्टी ने मामले का राजनीतिकरण करने के प्रयासों की निंदा की।

महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार का नेतृत्व कर रही शिवसेना ने पिछले साल उत्तर प्रदेश के हाथरस में सामने आए बलात्कार-हत्या मामले से इस मामले की तुलना को खारिज कर दिया और कहा कि मुंबई की घटना के आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया है और उन्हें कड़ी सजा दी जाएगी।

शुक्रवार तड़के साकीनाका में एक टेम्पो के अंदर एक व्यक्ति ने 34 वर्षीय एक महिला के साथ बलात्कार किया और फिर लोहे की छड़ से बेरहमी से उसकी पिटाई की। पुलिस ने बताया था कि शनिवार तड़के एक अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

संपादकीय में मूल रूप से भाजपा शासित उत्तर प्रदेश के जौनपुर के रहने वाले आरोपी के संदर्भ में कहा गया है कि ”साकीनाका बलात्कार और हत्या मामले की गहराई से जांच से पता चलेगा कि जौनपुर पैटर्न ने मुंबई में कितनी गंदगी पैदा कर दी है।”

भाजपा की राज्य इकाई के उपाध्यक्ष कृपाशंकर सिंह ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि एक ऐसा बयान जिसमें बलात्कार और हत्या के मामले को ‘जिला पैटर्न’ कहा गया हो, वह निंदनीय है।

सिंह ने कहा, ”आरोपी का कोई धर्म, जाति और क्षेत्र नहीं होता। उसे कड़ी सजा दी जानी चाहिए।” उन्होंने कहा कि जौनपुर वही जिला है जहां स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान 21 युवाओं ने अपनी जान दी थी और जिले के एक गांव में 40 युवा आईएएस अधिकारी बने हैं।

सिंह ने कहा ”यह जौनपुर पैटर्न है।”

भाषा जोहेब देवेंद्र

देवेंद्र