अंबानी परिवार को धमकी: मुंबई की अदालत ने आरोपी जौहरी को 20 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेजा |

अंबानी परिवार को धमकी: मुंबई की अदालत ने आरोपी जौहरी को 20 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेजा

अंबानी परिवार को धमकी: मुंबई की अदालत ने आरोपी जौहरी को 20 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेजा

: , August 16, 2022 / 07:48 PM IST

मुंबई, 16 अगस्त (भाषा) यहां की एक अदालत ने उद्योगपति मुकेश अंबानी और उनके परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार एक जौहरी को मंगलवार को 20 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेज दिया।

यहां रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल के लैंडलाइन नंबर पर कॉल कर अंबानी और उनके परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी देने के आरोप में बिष्णु विदु भौमिक (56) को पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार किया था।

दक्षिण मुंबई में आभूषणों की दुकान चलाने वाले भौमिक को उपनगरीय दहिसर से पकड़ा गया था।

पुलिस ने आरोपी को अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट एस वी डिंडोकर की अदालत में पेश किया और फोन पर धमकी देने के मकसद की जांच के लिए उसकी हिरासत मांगी।

इसने अदालत से कहा कि आरोपी आदतन अपराधी लगता है और इसलिए वह यह पता लगाने के लिए पूरी जांच करना चाहती है कि क्या कोई अन्य व्यक्ति भी इस मामले में शामिल था।

रिमांड याचिका का विरोध करते हुए भौमिक के वकील विजय कुमार माने ने तर्क दिया कि उनके मुवक्किल का मामले से सीधा संबंध नहीं है, क्योंकि फोन कॉल निजी अस्पताल को की गई थी, न कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अंबानी को।

माने ने अदालत को यह भी बताया कि आरोपी मानसिक रूप से बीमार है और उसका इलाज चल रहा है।

अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपी को 20 अगस्त तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया।

पुलिस के मुताबिक, भौमिक ने सोमवार सुबह करीब साढ़े दस बजे रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल के लैंडलाइन नंबर पर कथित तौर पर नौ बार फोन किया और अंबानी तथा उनके परिवार को जान से मारने की धमकी देने के साथ ही गाली-गलौज भी की।

उसके खिलाफ डी बी मार्ग थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 506 (2) के तहत आपराधिक धमकी का मामला दर्ज किया गया है।

फरवरी 2021 में अंबानी के दक्षिण मुंबई स्थित आवास ‘एंटीलिया’ के पास विस्फोटकों से लदी एक एसयूवी मिली थी। बाद में, इस घटना के सिलसिले में तत्कालीन पुलिस अधिकारी सचिन वाजे समेत कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

भाषा नेत्रपाल दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)