नफ नदी में नाव डूबने से 12 रोहिंग्या शरणार्थियों की मौत

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 09 Oct 2017 12:18 PM, Updated On 09 Oct 2017 12:18 PM

 

म्यामांर और बांग्लादेश को अलग करने वाली नफ नदी में एक नाव डूबने से करीब 12 रोहिंग्या शरणार्थियों की मौत हो गई. नाव में करीब 100 लग सवार थे. जबकि इस हादसे में कई लोग लापता है. 

रोहिंग्या शरणार्थियों को देश की सुरक्षा के लिए खतरा मानती है सरकार

नाव में करीब 40 वयस्क पुरुष थे। ‘‘बाकी सभी बच्चे थे।’’  तटरक्षकों ने तीन महिलाओं और दो बच्चों सहित 13 रोहिंग्याओं को सुरक्षित बचा लिया।  उन्होंने कहा कि चूंकि नाव म्यामांर की सीमा के पास डूबी, इसलिए ऐसा प्रतीत होता है कि कुछ लोग तैरकर उस पार चले गए होंगे। गौरतलब है कि म्यांमार से बांग्लादेश आते हुए कई रोहिंग्या अपनी जान गंवा चुके हैं.  

रोहिंग्या मुसलमानों को वापस नहीं भेज सकता भारत - UN मानवाधिकार परिषद

आपको बता दें कि बांग्लादेश दुनिया के सबसे बड़े शरणार्थी कैंप बनाने पर काम कर रहा है. इस कैंप में लगभग 8 लाख रोहिंग्या शरणार्थियों को जगह दी जा सकेगी. यह कैंप म्यांमार सीमा के पास ही कुतुपलोंग में बनाया जा रहा है. अभी तक के आंकड़ों के मानें, तो अभी तक 4 लाख रोहिंग्या बांग्लादेश में शरण ले चुके हैं.

रोहिंग्या मुसलमानों के लिए जामा मस्जिद के इमाम ने सऊदी किंग को लिखा पत्र

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : 12 Rohingya refugees die due to boat sinking in Naf river

जरूर देखिये