छत्तीसगढ़ में 22 घंटे बिजली सप्लाई, देश के 5 सर्वाधिक विश्वसनीय राज्यों की सूची में शामिल

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 21 Jun 2019 11:49 PM, Updated On 21 Jun 2019 11:49 PM

रायपुर: केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण ने शुक्रवार को देश के बिजली आपूर्ति करने वाले विश्वसनीय राज्यों की सूची जारी की है। जारी सूची के अनुसार छत्तीसगढ़ को सर्वाधिक विश्वसनीय राज्यों की सूची में टॉप 5 में जगह मिली है। छत्तीसगढ़ 22 घंटे बिजली देने वाले 5 राज्यों में से एक हैं। जनवरी से मई तक विद्युत उपलब्धता 97.62% दर्ज गई है। उर्जा विभाग ने छत्तीसगढ़ को उत्कृष्ट श्रेणी में रखा है।

Rread More: देशभर के मेडिकल कॉलेजों में EWS कोटा की सीटों में 10 प्रतिशत बढ़ोतरी, जानिए छत्तीसगढ़ में कहां कितनी सीटें बढ़ी

राज्य द्वारा प्रदत्त अधिकृत जानकारी के अनुसार सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के वेबपोर्टल के अनुसार विगत पांच माह जनवरी से मई 2019 तक प्रदेश में मांग के अनुरूप बिजली की आपूर्ति रही। जनवरी, 2019 में बिजली की माँग 1990 मिलियन यूनिट थी, जिसके विरूद्ध 1983 मिलियन यूनिट बिजली आपूर्ति की गई। मांग के अनुपात में आपूर्ति में मात्र 0.4 प्रतिषत् कमी दर्ज की गई। सतत् मानीटरिंग और युद्धस्तर पर बिजली व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के फलस्वरूप माह फरवरी और मार्च में यह कमी घटकर मात्र 0.3 प्रतिशत पहुंच गई। बिजली कर्मचारियों के लगातार प्रयासों से माह अप्रैल और मई, 2019 में छत्तीसगढ़ राज्य ने नया कीर्तिमान स्थापित किया। छत्तीसगढ़ में मांग के विरूद्ध शत-प्रतिशत विद्युत प्रदाय किया गया, अर्थात् शून्य प्रतिशत कमी दर्ज गई। यह स्थिति राष्ट्रीय स्तर पर माँग और उपलब्धता के औसत से कहीं बेहतर है। यही कारण है कि पिछले 5 महीनों में नेशनल पावर पोर्टल के आंकड़ों के अनुसार बिजली सप्लाई की विश्वसनीयता 97.62 प्रतिशत रही।

Read More: निर्माणाधीन INS विशाखापट्टनम में लगी भीषण आग, 1 युवक की दर्दनाक मौत

पाॅवर कंपनी के विद्युत गृहों की बेहतर कार्यनिष्पत्ति एवं सतत् मानीटरींग की जा रही है जिससे विद्युत उत्पादन की स्थिति संतोषजनक बनी हुई है। बढ़ती गर्मी तथा उपभोक्ताओं की संख्या में लगातार वृद्धि के बावजूद पाॅवर कंपनी अपने उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति करने में सफल रही। ‘पाॅवर फार आॅल‘ की रीति-नीति को कायम रखने में पाॅवर कंपनी आगे भी प्रयासरत रहेंगी।

Web Title : 22 hours electricity supply in chhattisgarh

जरूर देखिये