मुद्रा योजना के तहत छत्तीसगढ़ में बांटा गया 2636 करोड़ का लोन, बैंकों ने 238 करोड़ डूबने की जताई आशंका

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 23 Aug 2019 10:32 PM, Updated On 23 Aug 2019 10:32 PM

रायपुर। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना को सफल बनाने के लिए छत्तीसगढ़ में लगातार प्रयास किए गए है । इसका असर भी दिखा और एक लाख 16 हजार 917 खाते खोलकर सभी को लोन उपलब्ध कराया गया । हाल ही में जारी आंकड़ों के मुताबिक मुद्र योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ में 31 मार्च 2019 तक लगभग 2636 करोड़ रुपए बैंको को वापस लेना है। इसमें से लगभग 238 करोड़ रुपए को बैंक ने एनपीए में डाल दिया है । मतलब बैंको ने मान लिया है की ये रकम उन्हें शायद ही वापस मिलें।

ये भी पढ़ें- प्रिंसिपल के तबादले से नाराज छात्रों ने किया प्रदर्शन, BRCC को सौंप...

इस मामले में कांग्रेस का कहना है कि मुद्रा योजना सिर्फ कुछ विशेष वर्ग के लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए ही बनाई गई थी, इसलिए 238 करोड़ रुपए की राशि एनपीए हो गई है ।

ये भी पढ़ें-मंत्री सिलावट ने मिलावट को बताया पूर्व सरकार की देन, सरकारी अस्पताल...

कांग्रेस के इस आरोप पर भाजपा का कहना है की यह योजना पीएम मोदी ने गरीब वर्ग के लोगों को ध्यान में रखकर बनाई है। गरीब वर्ग का इंसान कभी भी पैसा नहीं खाता है, इसलिए भले ही अभी ये एनपीए हो गए है, लेकिन भविष्य में ये सारे पैसे जिन्होंने लोन लिया है उसे लौटाएंगे।

Web Title : 2636 crore loan distributed in Chhattisgarh under Mudra scheme Banks feared 238 crore sinking

जरूर देखिये