आंखफोड़वा कांड में इलाज के लिए 3 मरीजों को भेजा जाएगा चेन्नई, बड़ी कार्रवाई के निर्देश

 Edited By: Vivek Mishra

Published on 19 Aug 2019 09:50 AM, Updated On 19 Aug 2019 09:50 AM

इंदौर। इंदौर आई केयर हॉस्पिटल में हुए मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद 13 मरीजों की आंखों की रोशनी जान के मामले में आज शाम 7 बजे 3 मरीजों को इलाज के लिए चेन्नई भेजा जाएगा। लापरवाही के चलते 13 मरीजों ने अपनी आंखों की रोशनी खो दी है

ये भी पढ़ें: धरती पर अपनी अच्छी सेहत संदेश भेजा चंद्रयान-2, जानिए चंद्रयान-2 का भेजा गया ये संदेश

बता दे कि इंदौर आई अस्पताल में मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद 13 मरीजों की आंखों की रोशनी चली गई। इस घटना के बाद से हड़कंप मचा है। आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग ने हॉस्पिटल की ओटी को सील कर यहां आंखों के ऑपरेशन पर पाबंदी लगा दी है। टना के बाद हरकत में आया स्वास्थ्य विभाग अस्पताल के ओटी के उपकरणों की जांच के लिए एमजीएम मेडिकल कॉलेज के लैब भेजा है।

ये भी पढ़ें: एयरपोर्ट पर महिला यात्री के बैग से मिला कारतूस, तफ्तीश में जुटी पुलिस, जानिए

वहीं स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने रविवार को डॉ त्रिलोचंन सिंह होरा को निलंबित कर दिया है। डॉ त्रिलोचंन सिंह होरा जिला अंधत्व निवारण कार्यक्रम के प्रभारी हैं। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने जांच कमेटी के साथ समीक्षा बैठक की है और दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करने की बात कही है।

Web Title : 3 patients will be sent to Chennai for treatment in the eyewash case Major action instructions

जरूर देखिये