21 लाख के फर्जी भुगतान के 5 आरोपी गिरफ्तार, बैंक के 4 कर्मचारी शामिल, जानिए क्या है माजरा

Reported By: Satendra Singh Tomar, Edited By: Vivek Mishra

Published on 20 Jun 2019 08:32 AM, Updated On 20 Jun 2019 08:32 AM

छिंदवाड़ा। मुरैना जिले की सहकारी विकास समिति से 21 लाख के फर्जी भुगतान का मामला सामने आया है। इस पूरे घोटाले में बैंक के ही 4 कर्मचारियों सहित 5 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है। इन आरोपियों ने कलेक्टर और सहकारी समिति के जिला सीईओ के फर्जी हस्ताक्षर कर पैसे खातों में जमा करा लिए। मामले का खुलासा होने पर शाखा के एकाउंटेट की शिकायत पर मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की जिसमें एकाउंटेंट सहित 4 कर्मचारियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

ये भी पढ़ें: राज्यसभा का संसद सत्र आज से होगा शुरू, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे संबोधित, जानिए 

बता दे कि गरीबों के लिए बनाई गई शासन की योजनाओं में किस तरह से फर्जीवाड़ा किया जा रहा है इसका खुलासा मुरैना में देखने को मिला, जहां पर सहकारी समिति के कर्मचारियों की मिली भगत से 21 लाख का गबन कर दिया गया। मामले का उजागर तो तब हुआ जब 8 लाख के भुगतान के लिए फिर से चेक लगाया गया और ये मामला जिला सीईओ की नजर में आ गया। जिसके बाद बात पुलिस तक पहुंची और 21 लाख के गबन का मामला उजागर हुआ।

ये भी पढ़ें: दिल्ली दौरे पर मुख्यमंत्री, कांग्रेस अध्यक्ष से हो सकती है मुलाकात, जानिए राजधानी में आज और क्या 

लिहाजा बैंक कर्मचारियों के अलावा जिन फर्मों के नाम पर भुगतान किया गया है अभी उन लोगों पर भी पुलिस कार्रवाई करने की बात कह रही है। इस मामले में अभी और भी आरोपी निकल सकते हैं पर सबसे बड़ा सवाल ये है कि 3 बार में 21 लाख का भुगतान हो कैसे गया? सवाल कई और भी है जिनके जवाब पुलिस जांच के बाद ही मिल सकेंगे।

Web Title : 5 accused arrested for making fake payment of 21 lakh, four accused arrested

जरूर देखिये