छत्तीसगढ़ के हाथियों का उत्पाद रोकने कर्नाटक से आया हाथियों का दल

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 25 Jan 2018 06:09 PM, Updated On 25 Jan 2018 06:09 PM

कर्नाटक से 5 कुंकी हाथियों का दल छत्तीसगढ़ लाया गया है। इन हाथियों को वन विभाग द्वारा इंसान और हाथियों के बीच टकराव को कम करने के लिए लाया गया है। इन हाथियों में दो मादा हाथी गंगे और योगलक्ष्मी शामिल है। वहीं 3 नर हाथी तीरथराम, परशुराम और दुर्योधन शामिल है। इन हाथियों के साथ कर्नाटक राज्य के आठ महावत तथा कवाड़ी भी साथ आए है। ये महावत लगभग एक माह तक छत्तीसगढ़ में रहेंगे। हाथियों के बदले हुए परिवेश में सहज होने तक ये कर्नाटक के महावत व कवाड़ी यहीं रुकेंगे।

इरपानार नक्सली हमले पर ये बोले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल

पिछले 5 महीनों में 9 हाथी मित्र दल के सदस्यों को कर्नाटक राज्य के कुंकी हाथियों के प्रशिक्षण के लिए भेजा गया था, ये सभी हाथी मित्र प्रशिक्षण के बाद इन हाथियों के साथ वापस आ रहे हैं। फिलहाल इन हाथियों का दल राजनांदगांव पहुंच चुका है, और इन्हे अभी महासमुंद के जंगलो में रखे जाने की तैयारी है। वन विभाग के अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक रेडियो कॉलर के जरिए जंगली हाथियों पर नजर रखी जाएगी। ये रेडियो कॉलर भारतीय वन्यजीव संस्थान देहरादून के सहयोग से लाया जाएगा।

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : A group of elephants come from Karnataka to stop the elephants attack in Chhattisgarh

जरूर देखिये