नोटबुक रिलीज से पहले ही बटोर रही सुर्खिया, जानें क्या है अनोखे फ्लोटिंग सेट का राज

 Edited By: Renu Nandi

Published on 09 Mar 2019 02:35 PM, Updated On 09 Mar 2019 02:35 PM

मुंबई। फिल्म नोटबुक रिलीज से पहले ही सुर्खिया बटोर रही है। उसके पीछे की एक वजह है उसके सेट में की गई मेहनत। फिल्म के एक सीन के लिए निर्माताओं ने एक अनूठा फ्लोटिंग सेट बनाया था जो इन दिनों इंडस्ट्री में चर्चा का विषय बना हुआ है। बता दें कि फिल्म में 2007 के दौरान की कहानी को दिखाया गया है। जिसमें एक झील के बीच पानी में एक स्कूल पर कहानी केंद्रित है। इसीलिए निर्माताओं ने एक सेट बनाया, जो पानी के बीच खड़ा था।

 

दिलचस्प बात यह है कि इसे बनाने में 30 दिन का समय लगा और 80 क्रू सदस्यों ने हर दिन चौबीसों घंटे काम किया। इस असाधारण सेट को दो युवा लड़कियों उर्वी अशर और शिप्रा रावल द्वारा डिजाइन किया गया है , उन्होंने फिल्म नोटबुक के सेट के लिए बतौर आर्ट डिजाइनरों के रूप में काम किया।
इस फ्लोटिंग सेट के बारे में बात करते हुए, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता निर्देशक नितिन कक्कड़ ने कहा, "यह पहली बार है की जब मैंने एक वास्तविक स्थान पर बनाए गए सेट पर शूटिंग की है।आर्ट डिजाइनर उर्वी और शिप्रा के काम बहुत सराहनीय था। हमे , लगा नहीं था की सेट कभी इतना अच्छा होगा। इस तरह का सेट बनाना बहुत मुश्किल था क्योंकि यह तैर रहा था, लेकिन यह 30 दिनों के लिए हमारा घर बन गया था। जिस दिन सेट पर काम पूरा हुआ और सेट निकाला जाना था तो मेरा दिल भर आया था। इस सेट से बहुत से यादें जुड़ हुई थी.


बता दें कि कश्मीर की पृष्ठभूमि में स्थापित "नोटबुक" दर्शकों को एक रोमांटिक सफ़र पर ले जाएगी, जिसे देख कर आपके जहन में सवाल उमड़ पड़ेगा कि, क्या आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ प्यार में पड़ सकते हैं जिससे आप कभी मिले नहीं है?नोटबुक को कश्मीर की खूबसूरत घाटियों में फ़िल्माया गया है, जिसमें दो प्रेमी फिरदौस और कबीर की प्रामाणिक प्रेम कहानी के साथ-साथ बाल कलाकारों की दमदार कास्टिंग देखने मिलेगी जो कहानी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।नितिन कक्कड़ द्वारा निर्देशित यह फ़िल्म सलमान खान, मुराद खेतानी और अश्विन वर्दे द्वारा निर्मित है। फ़िल्म "नोटबुक" 29 मार्च, 2019 को रिलीज होने के लिए तैयार है।

Web Title : A unique type of floating set was made for the movie Notebook.

जरूर देखिये