घोषणा के 10 साल बाद भी शहर में नही बना ट्रांसपोर्ट नगर, कांग्रेस भाजपा में इस तरह हो रहे आरोप प्रत्यारोप..देखिए

Reported By: Abhishek Soni, Edited By: Anil Kumar Shukla

Published on 17 Aug 2019 05:25 PM, Updated On 17 Aug 2019 05:25 PM

अंबिकापुर। शहर को व्यवस्थित करने के लिए ट्रांसपोर्ट नगर की परिकल्पना करीब 10 साल पहले की गई थी तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अंबिकापुर में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की घोषणा भी कर दी थी मगर अब तक अंबिकापुर शहर को ट्रांसपोर्ट नगर की सौगात नहीं मिल सकी आलम यह है कि बेतरतीब तरीके से शहर में वाहनों की कतारें लगी हैं जिसके कारण आए दिन हादसे होते रहते हैं और जाम की स्थिति बनी रहती है।

read more: कांग्रेस में अयोग्य करार दिए गए नेता ने खरीदी 11 करोड़ की रोल्स रॉयस, सबसे महंगी कार खरीदने वाले भारतीय नेता बने.. देखिए

ट्रांसपोर्ट नगर अस्तित्व में तो नहीं आ सका मगर इसे लेकर राजनीति जरूर शुरू हो गई है कांग्रेस जहां भाजपा पर वादाखिलाफी का आरोप लगा रही है तो वहीं भाजपा का आरोप है कि पिछले 5 सालों से निगम में कांग्रेस की सरकार है और अब प्रदेश में भी कांग्रेस की सत्ता मगर अब तक कांग्रेस ट्रांसपोर्ट नगर को लेकर कोई पहल नहीं कर सकी।

read more: रिकॉर्ड समय में दौड़ेने वाले इस खिलाड़ी ने की खेल मंत्री से मुलाकात, देश के लिए खेलकर मेडल जीतने की इच्छा जताई

दरअसल अंबिकापुर में ट्रांसपोर्ट नगर को व्यवस्थित करने के लिए गंगापुर में जमीन के आवंटन के साथ ही गुमटियों का निर्माण करा दिया गया करीब 10 साल पहले शुरू किए गए इस प्रोजेक्ट का शुभारंभ तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह ने किया था और घोषणा की थी कि जल्द ही अंबिकापुर नगर निगम को ट्रांसपोर्ट नगर की सौगात मिल जाएगी मगर 10 साल बीत गए अब तक ट्रांसपोर्ट नगर अस्तित्व में नहीं आ सका आलम यह है कि यहां पड़े गुमटीया खराब हो गई और लोगों को आवंटित तक नहीं हो सकी अब भी शहर के पॉश इलाके में ट्रांसपोर्ट व्यवसाय संचालित है जिससे शहर अव्यवस्थित हो रहा है।

read more: मंत्री इमरती देवी का उमाभारती पर पलटवार, अगले विधानसभा सत्र में बीजेपी के 8 विधायक होंगे हमारे पास

ऐसे में कांग्रेस का आरोप है कि तत्कालीन भाजपा सरकार ने इस ओर कोई पहल नहीं किया मुख्यमंत्री ने घोषणा जरूर कर दी मगर इसके लिए कोई कार्ययोजना नहीं बनाई गई यही कारण है कि भाजपा की वादाखिलाफी के कारण ट्रांसपोर्ट नगर अस्तित्व में नहीं आ सका इधर कांग्रेस के आरोपों पर भाजपा पलटवार भी कर रही है भाजपा का कहना है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद इस और पहल भी की गई मगर नगर निगम अंबिकापुर में कांग्रेस की सत्ता आने के बाद इस और कोई प्रयास नहीं किया गया।

read more: 4 साल के मासूम को पिता ने दिया करंट के झटके, गंभीर हालत में ​अस्पताल में भर्ती, आरोपी फरार

अब जब कांग्रेस की सरकार प्रदेश में भी है तब भी कांग्रेस इस और कोई पहल नहीं कर रही। ऐसे में कहा जा सकता है कि ट्रांसपोर्ट नगर भले ही अस्तित्व में नहीं आ सका मगर इसे लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच में राजनीतिक बयानबाजी जरूर शुरू हो गई है ऐसे में कोशिश बयानबाजी के बजाय ट्रांसपोर्ट नगर को मूर्त रूप देने में होना चाहिए ताकि शहर अव्यवस्था से निजात पा सके और लोगों को भी राहत मिल सके।

Web Title : after 10 years of the announcement Transport nagar not built in city

जरूर देखिये