पश्चिम बंगाल में हिंसा के बाद चुनाव आयोग सख्त, प्रचार में की एक दिन की कटौती, हटाए गए प्रमुख सचिव गृह

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 15 May 2019 08:24 PM, Updated On 15 May 2019 08:24 PM

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान विवाद और फिर हुई हिंसा को चुनाव आयोग ने गंभीरता से लेते हुए सख्ती दिखाई है। आयोग ने पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार के लिए एक दिन की कटौती कर दी है। आयोग ने कहा कि कल (गुरुवार) रात 10 बजे के बाद पश्चिम बंगाल की 9 लोकसभा सीटों पर कोई चुनाव प्रचार नहीं होगा। इससे पहले चुनाव प्रचार शुक्रवार शाम 5 बजे खत्म होना था। चु

वहीं आयोग ने ईश्चरचंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने को भी दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। इस पर भी सख्ती दिखाते हुए चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल के एडीजी (सीआईडी) और राज्य के प्रधान सचिव (गृह) को भी हटा दिया है। आयोग ने कहा कि शायद यह पहला मौका है जब उसे धारा 324 को इस तरह से लागू करना पड़ा है। आयोग ने कहा कि यदि चुनाव के दौरान इस तरह की घटनाएं फिर दोहराई गईं तो फिर से सख्त कदम उठाया जाएगा।

यह भी पढ़ें : रेत नीति को लेकर रमन ने साधा निशाना, कहा- प्रदेश में खदान अब गुंडों के हवाले करने की तैयारी 

गौरतलब है कि 19 मई को पश्चिम बंगाल की 9 सीटों पर चुनाव होना है, ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी पूरी ताकत झोंक रही हैं। मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान खूब हंगामा हुआ। इस दौरान वहां के कॉलेज में ईश्वरचंद विद्यासागर की मूर्ति भी क्षतिग्रस्त की गई। बीजेपी और टीएमसी इस हिंसा के लिए एक-दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। चुनाव आयोग ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि राज्य प्रशासन मूर्ति को क्षति पहुंचाने वाले को पकड़ लेगा।

Web Title : After violence in West Bengal EC reduces a day for campaigning

जरूर देखिये