आदिवासियों का आज से बड़ा आंदोलन, बैलाडीला खदान अडानी को दिए जाने का किया जा रहा है विरोध

 Edited By: Vivek Mishra

Published on 07 Jun 2019 07:43 AM, Updated On 07 Jun 2019 07:43 AM

बस्तर। छत्तीसगढ़ के बस्तर के किरंदुल में आदिवासियों का बड़ा आंदोलन है, ये आंदोलन नंदराज पहाड़ी को बचाने के लिए बस्तर की जनता कर रही है, और बैलाडीला खदान अडानी को देने का विरोध कर रहे हैं। बैलाडीला के लौह अयस्क खदान नंबर 13 को अडानी के हाथों में दिए जाने का जमकर विरोध किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें: सीएम भूपेश बघेल आज धमतरी दौरे पर, कई कार्यक्रमों में होंगे शामिल

अब दन्तेवाड़ा, सुकमा और बीजापुर जिले के आदिवासी समुदाय के लोग जनप्रतिनिधियों के नेतृत्व में लामबंद होकर आज से एनएमडीसी किरंदुल के गेट मे अनिश्चितकालीन हड़ताल करने की तैयारी में है।इस आंदोलन के लिए आदिवासी समुदाय के लोग कई किलोमीटर पैदल चलकर सैकड़ों गांवों के ग्रामीण कोडेनार ग्राम पंचायत में एकत्रित हो रहे हैं।

ये भी पढ़ें: एक्शन मोड में पुलिस, रोड पर स्टंट करते बाइकर्स को SSP ने दबोचा, मौके पर की 

आदिवासियों का दैवीय स्थल नंदराज पहाड़ी, जिसको चूर-चूर करने की मंशा पर आदिवासी सवाल उठा रहे हैं। आज बस्तर का आदिवासी भांप रहा है कि बस्तर में मची लूट, बस्तरिहा के लिए कितनी घातक है। चाहे वो बस्तर के जंगल हो या बस्तर के देवता। अपने अधिकार के लिए रास्ता नापते ये आदिवासी, चेतावनी दे रहे हैं कि कोई भी आदिवासी अपनी अस्मिता और संस्कृति से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं करेगा।

Web Title : Against the tribal people's big agitation from today, the Baladila mine was given to Adani.

जरूर देखिये