कैबिनेट मंत्री का ऐलान, अगले वर्ष से वीरांगना मेले के साथ 3 दिवसीय शहीदी मेला का भी होगा आयोजन, आज महानाट्य का मंचन

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 18 Jun 2019 07:57 AM, Updated On 18 Jun 2019 07:42 AM

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में रानी लक्ष्मीबाई के मेले को लेकर सियासत गरमाई हुई है। जिसको लेकर कैबिनेट मंत्री प्रदुम्न सिंह तोमर ने एक नया बयान दिया है कि अब अगले साल से ग्वालियर में वीरांगना मेले के साथ 3 दिवसीय शहीदी मेला लगेगा, जिसमें ग्वालियर-चंबल अंचल के शहीदों को नमन किया जाएगा। सोमवार को तोमर ने 1857 के क्रांतिकारियों के शस्त्रों और वीरांगनाओं के चित्रों की प्रदर्शनी का भी शुभारंभ किया।

यह भी पढ़ें- पति ने पार की दरिंदगी की हद, कभी पत्नी को जबरदस्ती पिलाता शराब तो क...

जिला प्रशासन एवं नगर निगम के संयुक्त तत्वावधान में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। जिसमें लता अलंकरण प्राप्त गायिका सुहासिनी जोशी ने प्रस्तुति दी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के खाद्य, नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने सुहासिनी जोशी के साथ ही ग्वालियर में विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया।

यह भी पढ़ें- नर्स से दुष्कर्म, सहयोगी ने शादी का झांसा देकर लगातार बनाए संबंध.. ...

इससे पहले झांसी के किले से निकली शहीद ज्योति यात्रा शाम को ग्वालियर पहुंची। मानसिंह चौराहे पर ज्योति यात्रा का स्वागत पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया ने किया। जिसके बाद मानसिंह चौराहे से वाहन रैली के रूप में यात्रा वीरांगना लक्ष्मीबाई समाधि स्थल पहुंची। जहां शहीद ज्योति, रानी लक्ष्मीबाई समाधि स्थल पर स्थापित की गई। बता दें कि वीरांगना लक्ष्मीबाई बलिदान मेला के दूसरे दिन यानि मंगलवार शाम 7 बजे से वीरांगना लक्ष्मीबाई के जीवन पर आधारित खूब लड़ी मर्दानी महानाट्य का मंचन किया जाएगा, इसमें 2 सौ कलाकार अभिनय करेंगे। इसमें घोड़े, ऊंट का उपयोग किया जाएगा। समारोह में एशियन मैराथन चैम्पियन डॉ. सुनीता गोदारा को वीरांगना अवॉर्ड प्रदान किया जाएगा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रामलाल और कार्यक्रम की अध्यक्षता शिवराज सिंह चौहान करेंगे।

Web Title : Announcement of cabinet minister The 3-day martyr fair will be organized with the Veeranganga fair from next year.

जरूर देखिये