सेना बनाएगी फुटओवर ब्रिज, मुंबई थैंक्स आर्मी टॉप ट्रेंड, लेकिन विपक्ष नाखुश

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 31 Oct 2017 06:39 PM, Updated On 31 Oct 2017 06:39 PM

मुंबई में एलफिंस्टन ब्रिज हादसे के बाद आलोचना का शिकार बनी रेलवे और महाराष्ट्र सरकार ने अब इस फुटओवर ब्रिज समेत दो अन्य फुटओवर ब्रिजों के निर्माण का काम सेना को सौंप दिया है।

रेल मंत्री पीयूष गोयल, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस की मौजूदगी में इस फैसले का ऐलान किया गया। देवेंद्र फड़णवीस ने जानकारी दी कि 3 महीने में आर्मी तीन फुटओवर ब्रिज बनाएगी। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि एलफिंस्टन हादसा भयावह था, इसलिए सेना को सिविल वर्क के लिए बुलाया गया है।

देखें ट्वीट—

 

 

इसके बाद ट्वीटर पर MumbaiThanksArmy हैशटैग ट्रेंड भी करने लगा, लेकिन विपक्ष इस फैसले पर सरकार को थैंक्स कहने के मूड में नहीं नज़र आ रहा। 

कांग्रेस के नेता संजय निरूपम ने बीजेपी-शिवसेना पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि फुटओवर ब्रिज के लिए आर्मी को बुलाना महाराष्ट्र सरकार की नाकामी की पोल खोल रहा है।  निरुपम ने सेना के उपकरण अनिल अंबानी बनाएँगे और बेचारी सेना, रेलवे के पुल बनाएगी। वाह ! सचमुच देश बदल रहा है।

देखें संजय निरुपम का ट्वीट-

पंजाब के मुख्यमंत्री  और खुद सेना में रह चुके कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सेना का काम सैनिकों को तैयार करना है इसलिए बेहतर है कि सैनिकों को असैनिक कार्यों से दूर रखा जाए। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लगातार दो ट्वीट किए और 1962 की याद दिलाते हुए कहा कि रक्षा मंत्रालय के संसाधनों का इस्तेमाल सिविलियन कार्यों में करने से बचा जाना चाहिए।

देखें ट्वीट--

 

 

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी महाराष्ट्र सरकार परहमला करते हुए कहा कि सेना आखिरी विकल्प होती है, जिसे इमरजेंसी के हालात पैदा होने पर बुलाया जाता है। यहां स्थितियां दूसरी हो गई हैं यहां पहले नंबर पर स्पीड डायल के तौर पर बुला लिया गया।

देखें ट्वीट-

 

वेब डेस्क, IBC24

 

Web Title : armed forces called for construction elphinstone fobs

जरूर देखिये