शादी के मंडप में इंतजार कर रहा था दूल्हा, दुल्हन ने ऐसा कुछ किया कि पूरे गांव की प्रेरणा बनी

 Edited By: Renu Nandi

Published on 14 Mar 2019 06:02 PM, Updated On 14 Mar 2019 07:30 PM

औरंगाबाद। महाराष्ट्र के औरंगाबाद में बेहद ही प्रेरणादायी मामला सामने आया है। जहां एक युवती ने शिक्षा के महत्व को समझते हुए अपनी शादी से पहले परीक्षा को महत्त्व दिया। जिसे देखते हुए सभी ने उसके साहस और शिक्षा की कीमत को समझते हुए भरपूर सहयोग किया।

दरअसल औरंगाबाद में एक 12वीं की परीक्षा दे रही रेणुका पवार की शादी सामूहिक विवाह कार्यक्रम के अंतर्गत होनी थी। लेकिन जैसे ही उसके परीक्षा का टाइम टेबल आया उसने देखा कि शादी वाले दिन ही उसका एग्जाम है। उसने कई बार कहा था कि शादी की डेट इस तरह से तय की जाए कि वह उसकी परीक्षा तिथि से मेल न खाए। लेकिन जब कोई रास्ता नहीं निकला तो रेणुका ने परीक्षा को प्राथमिकता दी। इतना ही नहीं जब वह परीक्षा हॉल में अपना पेपर दे रही थी, तब उसका दूल्हा शादी के मंडप पर उसका इंतजार कर रहा था।

परीक्षा देकर रेणुका जैसे ही विवाह स्थल पहुंची वहां मौजूद सभी लोगों ने उसका उत्साह वर्धन किया और जोरदार ताली बजाकर उसका स्वागत किया। उसके बाद रेणुका की शंकर नामक व्यक्ति से शादी संपन्न हुई। बता दें कि रेणुका के पिता की मौत हो चुकी है। पैसों की तंगी से जूझ रहे परिवार से ताल्लुक रखने वाली रेणुका ने कहा कि शिक्षा उसके लिए बेहद जरूरी है। उसने यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत की है कि उसकी पढाई नहीं छूटे।

Web Title : aurangabad news:

जरूर देखिये