सरकारी कर्मचारियों के लिए बुरी खबर, काम में लापरवाही बरते तो मिलेगी अनिवार्य सेवा निवृत्ति, हाईकोर्ट भी फैसले से सहमत

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 20 Jul 2019 06:13 PM, Updated On 20 Jul 2019 06:13 PM

बिलासपुर। हाईकोर्ट ने एक बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा है कि काम में लापरवाही किए जाने पर अनिवार्य सेवानिवृत्ति करना प्रबंधन का सही कदम है। हाईकोर्ट चीफ जस्टिस की डिविजन बेंच ने काम में लापरवाही करने पर स्टेट बैंक आफ इंडिया के द्वारा बैंक के सहायक प्रबंधक को अनिवार्य सेवानिवृत्ति देने के फैसले को सही बताया है।

पढ़ें- जेल में बंद शिक्षाकर्मी की मौत मामले में 15 लाख मुआवजा देने के आदेश...

दरअसल भारतीय स्टेट बैंक के कांकेर शाखा में पदस्थ सहायक प्रबंधक एम राजू के खिलाफ शिकायत मिलने पर बैंक प्रबंधन ने 6 अक्टूबर 2003 को एम राजू को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी थी। विभागीय अपील खारिज होने पर एम राजू ने हाईकोर्ट की सिंगल बेंच में अपील की जिसमें एम राजू के पक्ष में फैसला सुनाया गया।

पढ़ें- शिक्षकों में तबादला आदेश से हड़कंप, 13 जुलाई से जारी निर्देश की जान...

इस फैसले के खिलाफ बैंक प्रबंधन ने हाईकोर्ट में रिट अपील पेश की, जिस पर सुनवाई करते हुए डिवीजन बेंच ने काम में लापरवाही के कारण अनिवार्य सेवानिवृत्ति करने के फैसले को सही ठहराया। हाईकोर्ट ने एम राजू की पेंशन संबंधी मांग पर बैंक प्रबंधन को नियमानुसार निर्णय लेने के निर्देश दिए हैं।

शिक्षाकर्मियों की नियुक्तियां निरस्त करने के आदेश

Web Title : Bad news for government employees, if you are negligent in work, you will get mandatory service retirement

जरूर देखिये