बर्थडे स्पेशल: इनकी दमदार आवाज़ ने तीन दशक तक दर्शकों को अपना दीवाना बनाया

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 18 Oct 2017 04:57 PM, Updated On 18 Oct 2017 04:57 PM

 

बॉलीवुड में इनकी आवाज़ में वो रौब और खनक आज भी बरकरार है, ओम पूरी इस साल ही इस दुनिया को अलविदा कह था, लेकिन लोगों के ज़हन में आज भी वो ज़िंदा हैं. 18 अक्टूबर को ओमपूरी का 66 वां जन्मदिन होता है. 

ये भी पढ़ें- घायल टाइगर की तरह कोई शिकार नहीं करता- सलमान खान

ओमपुरी ने लगभग तीन दशक से दर्शकों को अपना दीवाना बनाया है लेकिन कम लोगों को पता होगा कि वह अभिनेता नहीं बल्कि रेलवे ड्राइवर बनना चाहते थे।

हाल ही में वो अपनी पहली पत्नी सीमा कपूर की फ़िल्म 'मि. कबाड़ी' में नज़र आये थे। ये उनकी आखिरी फ़िल्म थी। ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर 1951 को पटियाला पंजाब में पंजाबी खत्री परिवार हुआ था। 

 

ये भी पढ़ें- रिचा और कल्कि, दुश्मनी से गहरी दोस्ती तक?

 

ओम पूरी का बचपन-

ओम पुरी बचपन में जिस घर में रहते थे उसके पीछे एक रेलवे यार्ड था। रात के समय ओमपुरी घर से भागकर ट्रेन में सोने चले जाते थे। उन्हें ट्रेन से बड़ा लगाव था। कहते हैं इसीलिए वो बड़े होकर ट्रेन ड्राइवर बनना चाहते थे। 

ये भी पढ़ें-  प्रभास अपने जन्मदिन पर अपने प्रशंसकों को देंगे खास तोहफ़ा!

ओम पुरी ने बचपन में काफी वक़्त अपनी नानी और मामा के साथ गुज़ारा। वहां उन्हें कुछ कड़वे अनुभव भी हुए। बहरहाल, वहीं रहते हुए उनका रुझान अभिनय की तरफ मुड़ा।

ये भी पढ़ें-  डेरा में देर रात लड़कियों के साथ दिवाली मनाता था 'रेपिस्ट बाबा' राम रहीम

ओम पुरी ने दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से एक्टिंग सीखी, जहां एक्टर नसीरुद्दीन शाह उनके सहपाठी हुआ करते थे। ओम के मुताबिक वो शुद्ध शाकाहारी थे लेकिन नसरुद्दीन शाह ने उन्हें नॉन वेज खाना सिखाया। दोनों काफी अच्छे दोस्त थे और दोनों ने एक साथ कई फ़िल्मों में काम भी किया है।

ये भी पढ़ें- झारखंड में भूख ने निगल ली 13 साल की बच्ची जान, जुलाई से नहीं मिला था राशन

लगभग तीन वर्ष तक पंजाब कला मंच से जुड़े रहने के बाद ओमपुरी ने दिल्ली में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में दाखिला ले लिया। इसके बाद अभिनेता बनने का सपना लेकर उन्होंने पुणे फिल्म संस्थान में दाखिला ले लिया। 

वर्ष 1976 में पुणे फिल्म संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद ओमपुरी ने लगभग डेढ़ वर्ष तक एक स्टूडियो में अभिनय की शिक्षा भी दी। बाद में उन्होंने अपने निजी थिएटर ग्रुप 'मजमा' की स्थापना की।

 

 

वेब डेस्क, IBC24

 

Web Title : birthday special

जरूर देखिये