वन विभाग में सामने आया बंधुआ मजदूरी का केस, भुगतान ना मिलने के चलते मजदूर पहुंचे कलेक्ट्रेट

Reported By: Amit Khare, Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 08 Mar 2019 07:46 PM, Updated On 08 Mar 2019 07:46 PM

पन्ना। भले ही मध्यप्रदेश सरकार मजदूरों के उत्थान की बात कर रही है, लेकिन पन्ना जिले में वन विभाग द्वारा एक माह से बंधुआ बना कर मजदूरी करने और भुगतान न देने का मामला सामने आया है। ऐसे में मजदूर अपना गृहस्थी का सामान समेत शिकायत करने कलेक्टर कार्यालय लेकर पहुंचे।

यह सभी मजदूर उमरिया जिले के हैं और इन्होंने दक्षिण वन मंडल के अंतर्गत कल्दा ग्राम में पौधा प्लांटेशन का काम किया है। छोटे-छोटे बच्चों और अपना गृहस्थी का सारा सामान लेकर परेशान होकर कलेक्टर से शिकायत करने पहुंचे थे। ऐसे कई मजदूर है जिन्हें पेमेंट नहीं मिली है।

यह भी पढ़ें : बोर्ड एग्जाम विद्यार्थियों के लिए बना परेशानी का सबब, पब्जी गेम को कहें No Root Fire Wall 

ऐसे में इनके सामने अपने बच्चों को खिलाने के लिए निवाला तक नहीं है, जिससे यह परेशान हैं। हालांकि इस पूरे मामले को लेकर पन्ना जिले के अधिकारियों का कहना है कि वास्तव में इन्होंने मजदूरी की है और उनका भुगतान नहीं किया गया है। जिले के अपर कलेक्टर जेपी धुर्वे का इस बारे में कहना है कि हमने वन विभाग के आला अधिकारियों से बात की है जल्द ही इनकी समस्या का समाधान कर दिया जाएगा।

Web Title : bonded wages case in forest department

जरूर देखिये