जीजाजी के साथ साले साहब भी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, स्मृति ईरानी ने ईडी की रेड में जब्त दस्तावेजों का दिया हवाला

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 13 Mar 2019 05:16 PM, Updated On 13 Mar 2019 05:16 PM

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में एक बार फिर अमेठी से हुंकार के लिए तैयार केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को घेरना शुरू कर दिया है। ईरानी ने जमीन घोटाले के मुद्दे पर रॉबर्ट वाड्रा के बहाने राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। ईरानी ने रॉबर्ट वाड्रा, राहुल गांधी और श्रीमती वाड्रा यानि प्रियंका गांधी को भ्रष्टाचार में लिप्त बताया है। उन्होंने कहा कि जीजाजी के साथ साले साहब भी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

ये भी पढ़ें- दिग्विजय सिंह के मंत्री बेटे ने की विवादित विज्ञापन की तारीफ, ट्वीट...

स्मृति ईरानी ने कहा कि गांधी परिवार ने भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है। पाहवा के घर, ईडी की रेड में राहुल गांधी के नाम के दस्तावेज मिले हैं। इसलिए देश ये मानता है कि रक्षा सौदों में राहुल गांधी की दखल अंदाजी उनके निजी कारोबारी फायदे और पारिवारिक हितों की वजह से है।

ये भी पढ़ें- मंत्री घनघोरिया और एसपी के वायरल वीडियो पर राज्यसभा सांसद तन्खा की...

स्मृति ईरानी ने कहा कि बीते 24 घंटे में कई ऐसे तथ्य सामने आए हैं जो गांधी-वाड्रा परिवार के पारिवारिक भ्रष्टाचार को उजागर करते हैं। राहुल गांधी और हथियार कारोबारी संजय भंडारी के बीच रिश्ता उजागर हो गया है। संजय भंडारी के रॉबर्ट वाड्रा के साथ करीबी रिश्ते भी जांच के दायरे में हैं। भंडारी ने यूपीए शासन के दौरान भी कई रक्षा सौदों में हिस्सा लिया। सीसी थांपी और एचएल पाहवा के बीच 54 करोड़ की कड़ी का खुलासा भी हुआ है। यूपीए शासन के दौरान सीसी थांपी का नाम न सिर्फ पेट्रोल सौदों बल्कि दिल्ली में हुए 280 करोड़ के जमीन सौदे से जुड़े वित्तीय अनियमितताओं में भी सामने आया। थांपी और भंडारी के बीच रिश्ता भी सबको पता है।

 

Web Title : brother-in-law is also along with jeejaajee involved in corruption

जरूर देखिये