मतगणना के दिन अपने साथ 14 एजेंट रख सकेंगे प्रत्याशी, एआरओ की व्यवस्था खत्म

 Edited By: Samrendra Sharma

Published on 04 Dec 2018 10:40 AM, Updated On 04 Dec 2018 01:38 PM

बिलासपुर। बिलासपुर के कोनी स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज के आईटी भवन में बनाए गए 7 विधानसभाओं की मतगणना के लिये सुरक्षा के ठोस इंतजाम किए गए है। जहां मतगणना स्थल पर मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति किसी को नहीं होगी। वहीं केवल प्रेक्षक ही मोबाइल ले जा सकेंगे।  निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुसार मतगणना स्थल पर इंटरनेट और फैक्स की सुविधांए रहेगी।

पढ़ें- अपोलो अस्पताल ने जमा नहीं किया एक करोड़ चार लाख रूपए का बिजली बिल, क...

वहीं मीडिया के लिये अलग से संचार सुविधाएं उपलब्ध कराएंगे। इसके साथ ही मतगणना के दिन सभी प्रत्याशियों को 14 एजेंट रखने की अनुमति दी गयी है। वहीं इस बार मतगणना स्थल पर पार्टी की तरफ से एआरओ की व्यवस्था नहीं होगी। इसके पहले निर्वाचन आयोग की तरफ से राजनैतिक दलों की तरफ से दो एआरओ की व्यव्स्था का प्रावधान था पर इस बार निर्वाचन आयोग ने व्यवस्था को खत्म कर दिया है।

पढ़ें-मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ में चुनाव ड्यूटी के मानदेय अलग-अलग, 2050 रुपए .

आपको बतादें छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की मतगणना 11 दिसंबर को होना है। ऐसे में पांचों राज्यों की नई सरकार बनाने में स्ट्रॉन्ग रूम में बंद ईवीएम में कैद मतों की संख्या पर निर्भर करती है। जैसे-जैसे दिन करीब आ रहे हैं पांचों राज्यों के प्रत्याशियों की धड़कनें तेज कर दी है। 

Web Title : Candidates will be able to hold 14 agents with you on counting day

जरूर देखिये