कैंसर, एचआईवी, पथरी जैसे रोगों में लाभदायक है "कीड़ा जड़ी" मशरूम, अब इस शहर में हो रही पैदावार

Reported By: Nasir Gouri, Edited By: Rupesh Sahu

Published on 24 Feb 2019 09:10 AM, Updated On 24 Feb 2019 09:10 AM

ग्वालियर । देश और दुनिया में मशहूर "कीड़ा जड़ी" मशरूम की पैदावार अब ग्वालियर में की जा रही है। कीड़ा जड़ी मशरूम, मशरूम की वैरायटियों में सबसे खास मानी जाती है। इसकी मार्केट वैल्यू डेढ़ से दो लाख रूपए प्रतिकिलो है। साथ ही इसका उपयोग जड़ीबूटी के रूम में भी इस्तेमाल होता है। ग्वालियर की मशरूम विदेशों में एक्सपोर्ट हो रही है, तो वहीं इसे पैदा करने की विधि को जानने के लिए लोग दूर-दूर से आ रहे हैं।

ये भी पढ़ें -स्वाइन फ्लू के इलाज में सहयोग नहीं, स्वास्थ्य मंत्री ने दिए 4 निजी ...

ग्वालियर के सीनियर साइंटिस्ट डॉक्टर एचएस गोस्वामी ने दुर्लभ कीड़ा जड़ी मशरूम की पैदावार का काम शुरू किया है। डॉक्टर गोस्वामी के मुताबिक कीड़ा जड़ी मशरूम के सेंटर देश में 3 जगह संचालित हो रहे है। जिनमें से एक सेंटर उनका भी है। डॉक्टर एचएस गोस्वामी ने अपने घर पर मशरूम प्लांट स्थापित किया है। गोस्वामी के मुताबिक उनका आइडिया कामयाब हुआ और काफी अच्छी मात्रा में मशरूम का उत्पादन हुआ। इससे उनका हौसला बढ़ा है। गोस्वामी के मुताबिक यह बेशकीमती जड़ी कैंसर, एचआईवी, पथरी जैसे रोगों में काफी लाभदायक होती है।

ये भी पढ़ें - विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर में बदलेगी वीआईपी दर्शन की व्यवस्था, जानिए क्या हुआ निर्णय

मशरूम के एक नए उत्पाद के प्रति लोगों की भी रुचि है। कीड़ा जड़ी मशरूम जिसे लोग तलाशते रहते हैं,यदि वो आसपास ही उपलब्ध हो जाए तो फिर तलाश आसानी से खत्म हो जाती है। डॉक्टर एचएस गोस्वामी ने कुछ अलग करने की दिशा में लोगों के लिए एक मिसाल भी पेश की है।

Web Title : Cancer is beneficial in diseases such as HIV, stones "worms insect" mushrooms Now the crop in the city

जरूर देखिये