प्रख्यात कलाकार खुमान साव के निधन पर विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने जताया शोक

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 09 Jun 2019 07:42 PM, Updated On 09 Jun 2019 07:42 PM

रायपुर: छत्तीसगढ़ी लोक संगीत की देश दुनिया में पहचान बनाने वाले प्रसिद्ध संगीतकार खुमान साव का रविवार सुबह निधन हो गया। उन्होंने अपने पैतृक गांव ठेकुआ में 90 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली। खुमान साव के निधन पर विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने शोक व्यक्त किया है। महंत ने साव के निधन को छत्तीसगढ़ी कला जगत के लिए अपूर्णीय क्षति बताया। साथ ही उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की है।

Read More: बालिगों के साथ हुए दैहिक शोषण को भाजपा के ये मंत्री नहीं मानते रेप, वीडियो में देखिए क्या कहा

महंत ने आगे कहा कि संगीत नाटक अकादमी सम्मान से विभूषित खुमान साव के दम पर चंदैनी गोंदा ने चारों और यश का डंका बजाया। छत्तीसगढ के बिखरे और अ-व्यवस्थित गीत-संगीत को सुनने योग्य प्रयासरत रहे, जिससे उनकी भी संगीत जगत में राष्ट्रीय पहचान बन सके, इस उद्देश्य के साथ लगभग 500 छत्तीसगढ़ी लोक गीतों की रचना की।

Read More: कहानी सफलता की: पिता बेचते हैं चाय, बेटे ने पहले अटेंप्ट में कर दिया UPSC में टॉप

खुमान साव ने चंदैनी-गोंदा लोक सांस्कृतिक दल के माध्यम से 1970 से लगातार आज तक सम्पूर्ण भारत में 5000 से भी अधिक मंचीय कार्यक्रम प्रस्तुती और जन-जन में रची-बसी छतीसगढ़ की सर्वप्रथम लोक सांस्कृतिक संस्था होने का गौरव, सम्प्रति 50 लोक कलाकारों के दल का संचालन भी कर चुके है।

Read More: ऑस्ट्रेलिया का मैच देखने ओवल ग्राउंड पहुंचा भगोड़ा 

साव छत्तीसगढ़ी लोक संगीत की सबसे बड़ी पहचान हैं। संम्पन्न परिवार में जन्मे खुमान साव को संगीत से उत्कट प्रेम था और वे किशोरवस्था में ही छत्तीसगढ़ी नाचा के पुरोधा दाऊ मंदराजी की 'रवेली नाचा पार्टी' में शामिल हो गए थे। उन्होंने बाद में राजनांदगांव में आर्केस्ट्रा की शुरुआत की और कई संगीत समितियों की स्थापना की थी। छत्तीसगढ़ी पारंपरिक लोक गीतों के अलावा श्री साव ने छत्तीसगढ़ के स्वनाम धन्य कवियों द्वारिका प्रसाद तिवारी ‘विप्र’, स्व. प्यारे लाल गुप्त, स्व. हरि ठाकुर, स्व. हेमनाथ यदु, पं. रविशंकर शुक्ल, लक्ष्मण मस्तुरिया, पवन दीवान एवं मुकुंद कौशल के गीतों को संगीतबद्ध कर उसे जन जन का कंठहार बना दिया।

Web Title : Charandas mahant Mourning to death of Khuman sao

जरूर देखिये