चीन ने सीमा पर तैनात किए होवित्जर तोप, डोकलाम गतिरोध के दौरान तिब्बत में किया था इस्तेमाल

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 08 Jan 2019 09:55 PM, Updated On 08 Jan 2019 09:55 PM

पेइचिंग। चीन ने अपनी सीमा वाले तिब्बत में हल्के युद्धक टैंकों के बाद अब होवित्जर तोपों को भी तैनात कर दिया है। यह इलाका भारत से सटा हुआ है। चीन के सरकारी मीडिया ने ये जानकारी दी है कि सीमा पर सैन्य क्षमता को बढ़ाने के लिए मोबाइल होवित्जर तोपों की तैनाती की गई है। स्वायत्त क्षेत्र तिब्बत में पीपल्स लिबरेशन आर्मी को मजबूती देने के लिए मोबाइल होवित्जर तोपों की तैनाती की गई है। खासतौर पर सीमा की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए इन्हें लगाया गया है।

चीनी मीडिया की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इन पीएलसी-181 मोबाइल होवित्जर तोपों को गाड़ियों पर ले जाया जा सकेगा। पीएलए ने अपने वीचैट अकाउंट पर इस बात की जानकारी दी। बता दें कि 2017 में डोकलाम में भारत और चीन के बीच हुए गतिरोध के दौरान भी इन्हें तिब्बत में इस्तेमाल किया गया था।

यह भी पढ़ें : नागरिकता विधेयक पारित होने के बाद असम बीजेपी के प्रवक्ता का पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा 

मिलिट्री एक्सपर्ट्स के अनुसार ये होवित्जर तोपों की मारक क्षमता 50 किलोमीटर से ज्यादा की रेंज तक है। इससे पीएलए को तिब्बत के अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में ताकत मिलेगी। इससे पहले जब भारत और चीन के बीच डोकलाम का गतिरोध चरम पर था, उस दौरान तिब्बत में हुए युद्धाभ्यास में इनका परीक्षण किया गया था।

Web Title : China deployed Howitzer tope on border used in Tibet during doklam blockade

जरूर देखिये