छात्रों को गलत तरीके से दाखिला दिलाने के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री को क्लीन चिट, EOW ने लगाई खात्मा रिपोर्ट

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 18 Jun 2019 11:11 AM, Updated On 18 Jun 2019 11:11 AM

भोपाल। मध्यप्रदेश के EOW ने आरकेडीएफ इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी में 12 छात्रों को गलत तरीके से दाखिला दिलाने और फीस में रियायत देने के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व मंत्री राजा पटैरिया को क्लीन चिट दे दी है।
यह भी पढ़ें- 7th Pay Commission: रक्षा मंत्री ने सैनिकों की पेंशन के लिए बनाई सम...

19 साल पुराने इस मामले में ईओडब्ल्यू ने खात्मा रिपोर्ट संलग्न कर दी है। बता दें कि ये मामला तब है का है जब मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सत्ता थी और दिग्विजय सिंह मुख्यमंत्री और राजा पटेरिया मंत्री थे।

यह भी पढ़ें- नीति आयोग की बैठक में सीएम कमलनाथ ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव, कृषि क्ष...

दिग्गी के शासनकाल में आरकेडीएफ इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी में 12 छात्रों को गलत तरीके से दाखिला दिलाने का मामले ने जोर पकड़ा था। इस बीच बीजेपी सरकार में इस पर जांच और आरोप- प्रत्यारोप चलते रहे । कांग्रेस की कमलनाथ सरकार में अब इस मामले में EOW ने खात्मा रिपोर्ट पेश कर दी है।

यह भी पढ़ें- नीति आयोग की बैठक में पीएम मोदी ने किया इस नए मंत्रालय का जिक्र, जा...

बता दें कि आरकेडीएफ इंस्टीट्यूट आफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, भोपाल ने 2000-2001 और 2001-2002 में 12 छात्रों को अनाधिकृत  तौर पर प्रवेश दिया था। तकनीकी शिक्षा विभाग ने गलत प्रवेश देने पर कॉलेज पर 24 लाख रुपए के जुर्माने का प्रस्ताव दिया था। तत्कालीन तकनीकी शिक्षा एवं जनशक्ति नियोजन मंत्री राजा पटैरिया ने प्रस्तावित जुर्माने को 24 लाख से घटाकर 5 लाख रुपए करने का प्रस्ताव तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को भेजा था, जिसे उन्होंने अनुमोदित कर कॉलेज को लाभ पहुंचाया था।

Web Title : Clean chit to former chief minister in case of wrong admission of students

जरूर देखिये