अनुसूचित जाति विकास और पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण की बैठक, बढ़ाया गया दायरा, 12 बिंदुओं के करेंगे काम

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 27 Jun 2019 03:44 PM, Updated On 27 Jun 2019 03:30 PM

रायपुरः सीएम भूपेश बघेल ने गुरुवार को अनुसूचित जाति प्राधिकरण तथा छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण एवं पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक के बाद प्रदेश के कृषि मंत्री रविंद्र चैबे ने मीडिया से रूबरू होकर कहा कि बैठक में सीएम  भूपेश बघेल ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि 10 दिन के भीतर जनप्रतिनिधि अपने-अपने जिलों के कलेक्टरों के साथ बैठक करेंगे। जनप्रतिनिधि कलेक्टरों को सुझाव देंगे और उन सुझावों को स्वीकृति दी जा सकेगी।

Read More: केंद्र सरकार पर बरसे भूपेश बघेल, कहा- भाजपा की 15 साल की नीतियों से छत्तीसगढ़ देश का सबसे गरीब राज्य बन गया, जानिए

प्राधिकरण के जरिए चलाए जा रहे नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी के कार्यक्रम के तहत लगभग 1900 गौठानों का काम शुरू हो रहा है। प्राधिकरण के जरिए ही गौठान निर्माण के लिए पैसा दिया जा रहा है। सीएम भूपेश बघेल ने शख्त निर्देश देते हुए कहा है कि गौठान निर्माण के काम में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। गौठान का काम जनप्रतिनिधि के सुझावों के मुताबिक किया जाए।

Read More: सीएम के आदेश से अफसरों में मची खलबली, सुबह 9 बजे दफ्तर पहुंचने के निर्देश, ढिलाई बरतने पर होगी सख्त कार्रवाई

पहले निर्माण किए गए गौठानों के लिए स्वीकृति दी जा चुकी है और जिन क्षेत्रों में निर्माण कार्य पूरा होने के बाद स्वीकृति नहीं दी गई है, उन्हें जल्द ही राशि का भुगतान किया जाएगा। अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग जैसे दोनों प्राधिकरण में काम करने का दायरा सीमित था, अब हमने दायरा बढ़ाकर 12 बिंदुओं पर कार्य स्वीकृत करने का निर्णय लिया है। बैठक में मंत्रिमंडल के सदस्य, जनप्रतिनिधि सभी विभागों के प्रमुख सचिवए सचिव मौजूद थे।

Web Title : CM Bhupesh baghel take review meeting of Scheduled Caste Development and Backward Classes Area Development Authority

जरूर देखिये