छोटे नालों के पानी का उपयोग रिचार्जिंग से भू-जल स्तर ऊंचा उठाने में हो, सीएम भूपेश ने मॉडल बनाने दिए निर्देश

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 21 May 2019 03:56 PM, Updated On 21 May 2019 03:56 PM

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को अपने निवास कार्यालय में राज्य के छोटे-छोटे नालों में बहने वाले पानी का उपयोग रिचार्जिंग के माध्यम से भू-जल स्तर को ऊंचा उठाने के लिए वन, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, कृषि विभाग सहित संबंधित विभिन्न विभागों के अधिकारियों तथा विशेषज्ञों के साथ विचार-विमर्श किया। बैठक में मुख्यमंत्री ने स्वयं वन विभाग, जल संसाधन विभाग तथा विशेषज्ञों द्वारा वॉटर रिचार्जिंग, जल संवर्धन और जल संचयन के लिए बनाए गये डिटेल प्रोजेक्ट मॉडलों को आडियो-वीडियो प्रेजेंटेशन देखा। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में सतही जल और जमीन की नमी बढ़ाने विशेष करके भू-जल स्तर को ऊंचा उठाने के लिए वैज्ञानिक ढंग से प्रयास किए जाए। उन्होंने इसके लिए मॉडल एवं प्रस्ताव बनाने के लिए वन विभाग, जल संसाधन विभाग तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग मिल जुलकर समन्वित प्रयास करने को कहा। उन्होंने कहा कि पूरे देश सहित छत्तीसगढ़ में भू-जल स्तर में लगातार गिरावट आ रही है और अनेक बार जल संकट की स्थिति बनती है। ऐसे में छत्तीसगढ़ राज्य जल संरक्षण एवं संवर्धन की दृष्टि से देश में अग्रणी भूमिका निभाएं और मॉडल प्रोजेक्ट प्रस्तुत करें।  

बैठक में अपर मुख्य सचिव सीके खेतान और जल संसाधन विभाग से सचिव अविनाश चम्पावत ने ऑडियो-वीडियो प्रेजेंटेशन दिया। इसी तरह पीएचई के पूर्व प्रमुख अभियंता एचके हिंगोरानी ने भी ऑडियो-वीडियो प्रस्तुतिकरण किया। मुख्यमंत्री ने इन सभी प्रोजेक्ट का अवलोकन किया तथा अधिकारियों, सलाहकारों और विशेषज्ञों के साथ सभी प्रोजेक्ट पर विचार-विमर्श किया।

कांग्रेस नेता मर्डर केस मामले में गवाह को मिल रही धमकी, एसपी को बताया जान का खतरा.. देखिए 

इस अवसर पर सहकारिता मंत्री प्रेम साय सिह, नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, मुख्य सचिव सुनील कुजूर, अपर मुख्य सचिव सीके खेतान, प्रमुख सचिव आरपी मंडल, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Web Title : CM Bhupesh instructed to make model for saving ground water

जरूर देखिये