मुख्यमंत्री ने लोक सुराज की समीक्षा बैठक में जाति प्रमाण पत्र जारी करने लगेंगे विशेष शिविर

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 15 Mar 2018 03:58 PM, Updated On 15 Mar 2018 03:58 PM

रायपुर,- मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि राज्य सरकार ने 27 जाति समूहों के उच्चारणगत विभेदों को मान्य करते हुए उन्हें जाति प्रमाण पत्र जारी करने का निर्णय लिया है। इनमें अनुसूचित जनजाति वर्ग के 22 और अनुसूचित जाति वर्ग के पांच समुदाय शामिल हैं। डॉ. सिंह ने अधिकारियों से कहा है कि जिन जिलों में इन समुदायों के जाति प्रमाण पत्र के आवेदन अब तक लंबित हैं, वहां विशेष शिविर लगाकर विद्यार्थियों और अन्य संबंधित आवेदकों को जाति प्रमाण पत्र जारी किया जाए। उन्होंने कहा कि इससे इन समुदायों के अधिक से अधिक लोगों को सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का समुचित लाभ मिल सकेगा।

ये भी पढ़े - सोनिया गांधी निवास में हुआ रात्रि भोज बीस राजनीतिक पार्टियों के साथ बनी आगे की रणनीति

मुख्यमंत्री लोक सुराज अभियान के तहत आज रात अम्बिकापुर जिला पंचायत के सभाकक्ष में सरगुजा और बलरामपुर-रामानुजगंज जिलों की समीक्षा बैठक ले रहे थे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अभियान के प्रथम चरण में प्राप्त आवेदन पत्रों का वास्तविक और गुणवत्तापूर्ण निराकरण जरूरी है। अगर किसी आवेदन में नियमों के तहत स्वीकृति दी जाना संभव नहीं है, तो आवेदक को इस बारे में स्पष्ट रूप से सूचित किया जाए, लेकिन जिन आवेदनों का निराकरण नियमानुसार हो सकता है, उनका सर्वोच्च प्राथमिकता से तत्काल निपटारा किया जाए। दोनों जिलों के कलेक्टरों ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनके जिलों में लोक सुराज अभियान के तहत प्राप्त आवेदनों में से 90 प्रतिशत से ज्यादा आवेदनों का निराकरण किया जा चुका है।

ये भी पढ़े - मध्यप्रदेश में सहकारिता आंदोलन को और तेज गति दी जायेगी - शिवराज सिंह चौहान

उन्होंने अधिकारियों को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजनाओं पर गंभीरता से ध्यान देने के निर्देश दिए। डॉ. सिंह ने कहा-प्रधानमंत्री स्वयं इन योजनाओं की नियमित रूप से मॉनिटरिंग करते हैं। डॉ. सिंह ने प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री सहज बिजली-हर घर (सौभाग्य) योजना और प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना सहित विभिन्न योजनाओं के तहत दोनों जिलों में हो रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा की। मुख्य सचिव श्री अजय सिंह ने बैठक में कलेक्टरों और संबंधित विभागों के अधिकारियों से कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशों के अनुरूप लोक सुराज अभियान के तहत प्राप्त आवेदनों का गुणवŸाापूर्ण निराकरण सुनिश्चित किया जाए.

 

ये भी पढ़े - सरपंच की अनूठी पहल बच्चों का भविष्य संवारने पढ़ाते हैं निःशुल्क ट्यूशन

 बैठक में प्रदेश के गृह जेल एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री तथा सरगुजा जिले के प्रभारी मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, सरगुजा सांसद श्री कमलभान सिंह, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री टी.जे. लांगकुमेर, राजस्व विभाग के सचिव श्री निर्मल खाखा, सरगुजा जिले की प्रभारी सचिव श्रीमती रीना बाबा साहेब कंगाले, मुख्यमंत्री के विशेष सचिव श्री मुकेश बंसल, जनसंपर्क विभाग के विशेष सचिव-सह-संचालक राजेश सुकुमार टोप्पो, छŸाीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कम्पनी के प्रबंध निदेशक श्री अंकित आनंद, सरगुजा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक श्री हिमांशु गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार और संभागीय स्तरीय अधिकारी तथा सरगुजा तथा बलरामपुर-रामानुजगंज जिले विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

वेब टीम IBC24

Web Title : CM's directives in the Lok Suraj analysis meet towards organizing special camps for releasing Caste

जरूर देखिये