Collector was happy to be a shadow, now will fulfill the dream of becoming a real collector | कलेक्टर शेडो बनकर खुशी हुई अब असल कलेक्टर बनने का सपना पूरा करूंगी- चेतना देवांगन  

कलेक्टर शेडो बनकर खुशी हुई अब असल कलेक्टर बनने का सपना पूरा करूंगी- चेतना देवांगन  

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 10 Jan 2018 01:35 PM, Updated On 10 Jan 2018 01:35 PM

 

चेतना उन 27 जिलों की शीर्ष प्रतिभागियों में हैं, जो यूथ स्पार्क-खेलेगा छत्तीसगढ़, जीतेगा छत्तीसगढ़, के पांचवे चरण में पहुंचकर कल एक दिन के लिए शेडो कलेक्टर बनीं।

ये भी पढ़ें- सैनेटरी नेपकीन को GST के दायरे से बाहर करने अनोखा विरोध प्रदर्शन

शासकीय बिलासा गर्ल्स कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रही चेतना देवांगन को कल दिन भर कलेक्टर के साथ-साथ प्रशासनिक अनुभव हासिल करने का अवसर मिला, जिसपर चेतना ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वह एक दिन के लिए कलेक्टर की परछाई के रूप में काम करके बहुत खुश है।

ये भी पढ़ें- कार्तिक मर्डर केस: अवैध संबंध में अंधी मां ने प्रेमी से मिलकर की बेटे की हत्या

उसने कल जाना कि शासन की लोक कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन बहुत महत्वपूर्ण दायित्व है। यह महसूस हुआ कि कलेक्टर का काम बहुत चुनौतीपूर्ण है। फरियादियों की शिकायतों का निराकरण कैसे किया जा सकता है,  यह समझने का प्रयास किया।

ये भी पढ़ें- अतिक्रमण हटाने के दौरान टीआई के पैर में चला पोकलेन

शासकीय कार्यों का अवलोकन करने का भी अवसर मिला। शाम पांच बजे तक वह कलेक्टर की शेडो रही,  यह दिन यादगार है। चेतना ने आगे कहा कि वह सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रही है, एक दिन खुद ऐसी जिम्मेदारी संभालना चाहेगी।

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Collector was happy to be a shadow, now will fulfill the dream of becoming a real collector

जरूर देखिये