मतगणना को लेकर सभी राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश, ज्यादा से ज्यादा VVPAT को शामिल करने की तैयारी पूरी

 Edited By: Vivek Mishra

Published on 10 May 2019 09:46 AM, Updated On 10 May 2019 09:46 AM

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव की मतगणना के लिए चुनाव आयोग ने इस बार पहले की अपेक्षा करीब 5 गुना ज्यादा VVPAT को शामिल करने करने के लिए चुनाव आयोग तैयारिया पूरी कर ली है। इसके साथ ही अगर EVM के मत और VVPAT की पर्ची में किसी प्रकार की समानता नहीं होती है तो VVPAT की पर्चियों की गणना को वैध माना जाएगा।

ये भी पढ़ें: छठे चरण के लिए आज थम जाएगा प्रचार, तीन राज्यों के दौरे पर पीएम मोदी

बता दे कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पहली बार VVPAT के आधार पर EVM के मत का मिलान किया जाएगा, सुप्रीम कोर्ट के दिए गए आदेश के बाद चुनाव की मतगणना में हर एक विधानसभा क्षेत्र में 5 मतदान केन्द्रों की VVPAT की पर्चियों का EVM के मतों से मिलान किया जाएगा।

ये भी पढ़ें: सियासत में कर्जमाफी को लेकर बवाल, रोहित सिंह चौहान ने एसपी को दिया आवेदन

7 चरण में हो रहे लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान 19 मई को होने के बाद 23 मई को मतगणना होगी। मतगणना की तैयारी को लेकर सभी राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों को सभी प्रकार के दिशा-निर्देश दे दिए गए है। वहीं इस बार की मतगणना में कुल 20 हजार 600 मतदान केन्द्रों की VVPAT की पर्चियों की गणना करनी होगी।

 

Web Title : Counting of votes is mandatory to the Chief Electoral Officers of all the states, more than VVPAT

जरूर देखिये