सरकारी वेबसाइट में ब्योरा अपडेट नहीं करने वाले मदरसों पर खतरे की घंटी..

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 17 Oct 2017 05:31 PM, Updated On 17 Oct 2017 05:31 PM

 

उत्तर प्रदेश में 2500 से ज्यादा मदरसों पर योगी सरकार सख्त कार्रवाई कर सकती है. प्रदेश सरकार ने इन मदरसों को 15 अक्टूबर तक सरकारी वेबसाइट में मदरसे का ब्योरा अपलोड करने की अंतिम तारीख तय की थी.

ये भी पढ़ें- 'मदरसा ऑफ जेहाद' को 30 करोड़ का फंड जारी

इससे पहले भी योगी सरकार ने अनियमितता बरतने के आरोप पर प्रदेश के 46 मदरसों को मिलने वाली सरकारी सहायता पर रोक लगा दी थी.  

गौरतलब है madarsaboard.upsdc.gov.in नाम की एक साइट तैयार कराई गई है, जिसमें 15 अक्टूबर तक इस पर 16461 मदरसों ने अपनी-अपनी जानकारी मुहैया कराई। लिहाजा वे ही सरकार से मिलने वाली मान्यता और अनुदान पा सकेंगे। 

ये भी पढ़ें- मदरसा में तिरंगा फहराने पर संचालकों ने कहा-शक की निगाह से देख रही सरकार

वहीं, 2682 मदरसों की मान्यता ब्यौरा न देने के चलते रद्द की जाएगी। मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता ने इस पर कहा कि जिन मदरसों ने साइट पर अपना ब्यौरा दे दिया है, सिर्फ उन्हीं की मान्यता बरकरार रहेगी। बाकी के मदरसों पर कार्रवाई होगी। आखिरी तारीख तक कुल 32,483 शिक्षकों का डाटा आधार लिंक से अपलोड हुआ है।

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Danger bell on madarsas who do not update details in official website

जरूर देखिये