जहरीला प्रसाद खाने से 15 गौ वंशों की मौत, महाशिवरात्रि पर मंदिर प्रबंधन ने किया था भंडारे का आयोजन

Reported By: Mridul Pandey, Edited By: Rupesh Sahu

Published on 07 Mar 2019 03:39 PM, Updated On 07 Mar 2019 03:39 PM

सतना। जिले में विषाक्त प्रसाद खाने से 15 से अधिक गौ वंशों की मौत हो गई है। मामला शहर से लगे पशुपतिनाथ मंदिर का है । मंदिर प्रबंधन ने हर साल की तरह इस बार भी महाशिवरात्रि पर भंडारा कार्यक्रम आयोजित किया था । दिनभर भंडारा वितरण के बाद शाम को प्रसाद बच गया था । मंदिर प्रबंधन ने बचे हुये प्रसाद को मंदिर में रख दिया, दूसरे दिन प्रसाद में बदबू आने पर प्रबंधन ने भंडारा के प्रसाद को जमीन गाड़ने की बजाय खुले में फेंक दिया । मंदिर से लगी बस्तियों के गौ-वंशो ने विषाक्त प्रसाद से पेट भरा और कुछ देर में गाय तड़प तड़प कर दम तोड़ने लगी ।

ये भी पढ़ें- नरोदा पटिया दंगे के दोषी बाबू बजरंगी की जमानत मंजूर, स्वास्थ्य आधार पर मिली राहत

गौ वंशों की मौत से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया, ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने मौके का मुआयना किया है। विषाक्त प्रसाद खाने से अभी तक डेढ़ दर्जन गौ वंश दम तोड़ चुके है। ग्रामीणों की माने तो कई गायों की हालत खराब है, जिससे मौत की आंकड़ा बढ़ सकता है । पीड़ित और गांव के सरपंच ने मंदिर प्रबंधक के खिलाफ सिविल लाइन थाने में लिखित शिकायत दर्ज करा दी है । गांव में गौवंशो के तड़प तड़प कर दम तोड़ने से ग्रामीणों में आक्रोश है। गायों की मौत पर किसी भी संगठन ने सक्रियता नहीं दिखाई है।

Web Title : Death of 15 Gao Dynasties by eating poisonous Prasad, temple management on Mahashivaratri was organized by Bhandara

जरूर देखिये