फर्जी ग्रामसभा की पड़ताल, प्रशासनिक अमला लौटा बैरंग, जानिए वजह

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 24 Jun 2019 03:52 PM, Updated On 24 Jun 2019 03:52 PM

जगदलपुर। दंतेवाड़ा जिले के बैलाडीला के डिपोजिट-13 के लिए 2014 में हुई कथित फर्जी ग्रामसभा की पड़ताल अंतिम चरण में है। इसके लिए सोमवार को ग्रामीणों का बयान दर्ज होना था लेकिन ग्रामीणों ने सचिव की मौजूदगी में ही बयान दर्ज कराने की शर्त रखने दी, इसलिए प्रशासनिक अमले को बैरंग लौटना पड़ा।

बता दें कि प्रशासन की यह टीम अडानी को आवंटित जमीन को लेकर बयान दर्ज करने पहुंची थी। उधर बीजापुर के बीजापुर नेशनल हाइवे पर आईईडी बम मिला है। ये आईडी बम 20-20 किलो के डिब्बों में जमीन में गड़ा मिला। बीडीएस टीम प्रभारी बलदाऊ चन्द्राकर की टीम ने किया बम निष्क्रिय किया। नक्सलियों सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने लगाया था।

यह भी पढ़ें : जिले को मिली करोड़ों की सौगात, झाबुआ में मुख्यमंत्री का संबोधन, कहा- कृषि के क्षेत्र में क्रांति लाएंगे, वर-वधू को दिए शुभकामनाएं 

गौरतलब है कि आज सुबह ही बीजापुर से भोपाल पटनम मार्ग पर गागड़ा नाला के पास बम बरामद किया गया था। घटनास्थल पर भारी संख्या में बीडीएस की पुलिस फोर्स पहुंची  थी। साथ ही, बम के मिलने के बाद NH-63 को जाम कर दोनों तरफ से राहगीरों को रोक दिया गया।

Web Title : Detecting the fake Gram Sabha, the administrative staff returned, know the reason

जरूर देखिये