पंचायत अध्यक्ष की दबंगई के चलते खुलकर किया जा रहा आचार संहिता का उल्लंघन, तहसीलदार ने कार्रवाई का दियाआश्वासन

Reported By: Jitendra Kumar Goutam, Edited By: Renu Nandi

Published on 25 Apr 2019 11:46 AM, Updated On 25 Apr 2019 11:46 AM

दमोह। लोकसभा चुनाव में सरकारी कर्मचारियों द्वारा आचार संहिता का उल्लंघन जैसे मामले बहुत अधिक सुनने में आ रहे है। ऐसी ही खबर मध्यप्रदेश के दमोह में देखने मिल रही है जहां पुलिस कर्मी खुलेआम बीजेपी का प्रचार पोस्टर के माध्यम से कर रहे हैं।
ये भी पढ़ें -आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने पटकथा लेखक सलीम खान को प्रदान किया 77 वां मास्टर दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार

दमोह में आचार संहिता का उल्लंघन आम बात हो गई है। क्योकि यहां कभी पुलिस कर्मी भाजपा का खुलेआम प्रचार करते दिखाई देते हे तो कभी जिला पंचायत सीईओ प्रधानमंत्री आवास योजना का खुले आम सर्वे करवाकर आचार संहिता का उल्लंघन करते हैं। और इन सब के बावजूद चुनाव अधिकारी मौन व्रत धारण किये हुए हैं।
ये भी पढ़ें -3 लाख का इनामी नक्सली गिरफ्तार, पुलिस फायरिंग के दौरान 20 से 

आपको बता दें कुछ दिन पहले जिला पंचायत सीईओ की शिकायत तो कांग्रेस ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी भोपाल को भी पत्र लिखकर की थी।लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ उल्टा इसी तरह आचार संहिता का उल्लंघन दमोह के पटेरा जनपद पंचायत में भी देखने को मिला है। यहां जनपद पंचायत कार्यलय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कैलेंडर लटकता दिखाई दे रहा है जिसे हटाने की हिम्मत अधिकारियो में नहीं है। ज्ञात हो कि पटेरा जनपद पंचायत अध्यक्ष बद्री पटेल का कार्यालय भी इसी परमाइसेस में है और बद्री पटेल भाजपा के कद्दावर नेता माने जाते हैं। इसलिए उनसे पंगा लेने की हिम्मत किसी सरकारी कर्मचारी में नहीं है। इस मामले में जब आईबीसी 24 की टीम पटेरा तहसीलदार से बात की तो उन्होंने कहा कि जल्द ही इस विषय में कार्यवाही की जाएगी।

Web Title : election 2019 :Code of Conduct violation in damoh

जरूर देखिये