साध्वी प्रज्ञा के बयान पर निर्वाचन आयोग ने लिया संज्ञान, नाथूराम गोडसे को बताया था देशभक्त

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 16 May 2019 09:25 PM, Updated On 16 May 2019 09:25 PM

भोपाल। केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने मध्यप्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे पर दिए बयान पर संज्ञान लिया है। आयोग ने मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से इस बारे में रिपोर्ट मांगी है। साध्वी के बयान की रिपोर्ट मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी तैयार कराएंगे।

बता दें कि गुरुवार को देवास बीजेपी प्रत्याशी महेंद्र सोलंकी के पक्ष में प्रचार करने पहुंची आगर-मालवा भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साधी प्रज्ञा ने एक बार फिर विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। उनको आतंकवादी बोलने वाले लोग स्वयं के गिरेबान में झांक कर देखें, ऐसा बोलने वालो को इस चुनाव में जवाब दे दिया जाएगा। हालांकि साध्वी प्रज्ञा के इस बयान की चौतरफा आलोचना हुई और बीजेपी ने इसे उनका व्यक्तिगत बयान बताते हुए पल्ला झाड़ने साथ ही उन्हें सार्वजनिक माफी मांगने कहा।

यह भी पढ़ें : कर्ज के मामले में जेल भेजे गए किसानों को मिली जमानत, दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई 

वहीं भोपाल से कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने साध्वी के इस बयान पर कहा कि भाजपा के लोगों को देश से मांफी मांगना होगी। नरेंद्र मोदी, अमित शाह और भाजपा के सभी नेता इस बयान पर देश से माफी मांगें। दिगिविजय ने आगे कहा कि राष्ट्र के खिलाफ जो शब्दों का उपयोग किया गया, मैं उसकी निंदा करता हूं। नाथूराम गोडसे एक हत्यारा था, उसको महामंडित करना राष्ट्रीयता नहीं है, बल्कि राष्ट्रद्रोह है।

Web Title : Election Commission takes cognizance of Sadhvi Pragya statement

जरूर देखिये