नकली आधारकार्ड और वोटर आईडी बरामद, सालों से चल रहा था फर्जीवाड़ा

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 22 Jun 2019 07:39 AM, Updated On 22 Jun 2019 07:39 AM

रायपुर। जिस आधार कार्ड को सरकार विशिष्ट पहचान पत्र मानती है, वह भी अब फर्जी बनाया जा रहा है। डिजिटल इंडिया के इस युग में हर क्षेत्र में आधार लिंकिंग की अनिवार्यता के बीच धोखाधड़ी करने वाले नकली आधार कार्ड भी बनाने में का काला कोराबार संचालित कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के रविभवन में पुलिस की सायबर सेल टीम ने छापा मारा। छापे की कार्रवाई के दौरान पुलिस ने दिनेश त्रिवेदी नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दिनेश त्रिवेदी का पास से बड़ी मात्रा में
नकली आधारकार्ड और वोटर आईडी बरामद किए गए हैं।

ये भी पढ़ें- रायपुर आईजी की बड़ी कार्रवाई, वसूली करने वाले 6 पुलिसकर्मियों का तब...

शुरुआती जानकारी में ये बात सामने आई है कि आरोपी और उसके साथी पिछले कई सालों से ये फर्जी कारोबार संचालित कर रहे हैं। बता दें कि आधार नंबर के साथ बायोमेट्रिक पहचान सहित अन्य डिटेल की निगरानी हो रही है। ऐसे में फर्जीवाड़ा सामने आया है । कार्ड को मशीन में डालते ही पता चल जाता है कि वह असली है या नकली ।

ये भी पढ़ें- दिल्ली दौरे के कारण योग कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो सकेंगे सीएम, ...

शुक्रवार रात को पुलिस ने छापेमारी की है, पुलिस शनिवार को पूरे मामले का खुलासा करेगी।

 

Web Title : Fake Aadhar Card and voter ID recovered Black business was going on for years

जरूर देखिये