आॅटो में भूले जेवर से भरा बैग, दुर्ग पुलिस ने ऐसे की मदद

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 20 Feb 2018 05:33 PM, Updated On 20 Feb 2018 05:33 PM

दुर्ग। कहते है कि खरे पसीने की कमाई को कोई आपसे नहीं छीन सकता ऐसा ही कुछ हुआ परिवार सहित शादी से लौट रहे हेमंत यादव के साथा वे अपना गहनों से भरा बैग ऑटो में भूले गए। हेमंत यादव ने दूसरे दिन इसकी शिकायत ट्रैफिक पुलिस से की। ट्रैफिक पुलिस ऑटो चालकों की पहचान करते हुए, आखिर में उस ऑटो चालक के घर तक पहुंच गई। इसके बाद गहने बरामद कर हेमंत यादव के हवाले  कर दिए गए। हेमंत यादव ने इसके लिए यातायात पुलिस को लिखित में आभार जताया।

मंत्री स्मृति ईरानी पहुंची बीजेपी प्रदेश कार्यालय कार्यकर्ताओं से की अनौपचारिक बातचीत

वहीं इस काम में अपनी सजगता का परिचय देने वाले ट्रैफिक पुलिस के जवान प्रधान आरक्षक रमेश दुबे को एसपी ने सम्मानित किया। सेक्टर-7 में रहने वाले हेमंत यादव परिवार सहित रविवार की शाम चिखली से शादी कार्यक्रम में शामिल होकर लौट रहे थे। दुर्ग बस स्टैंड पर ऑटो से उतरे तो गहने वाला बैग आॅटो में भूल गए। बस में चढने के बाद याद आया, कि गहने वाला बैग तो आॅटो में ही छूट गया। बस से उतरकर वापस उस जगह जाकर देखा जहां पर आॅटो से उतरे थे तो ऑटो नदारत था। परिजन देर रात तक ऑटो की तलाश करते रहे। इसके बाद घर लौट गए।

छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मी नेता को नक्सलियों ने भेजा धमकी भरा पत्र

दूसरे दिन यातायात पुलिस में इसकी शिकायत की गई। हेमंत यादव ने बताया कि ऑटो के ऊपर का कवर पीला है। दो माह पहले खरीदा है, इस वजह से नंबर भी नहीं है। चालक को देखने पर पहचान लेने का दावा किया, पुलिस ने इसके बाद ऑटो चालक की तलाश शुरू की तलाशते हुए दुर्ग में ऑटो चालक के घर तक पुलिस पहंुच गई। ऑटो चालक घर पर मौजूद नहीं था लेकिन घर में वह बैग मिला जिसमे हेमंत के जेवर थे जिसे पुलिस ने हेमंत यादव को लौटा दिया। 

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Family left bag full of Jewellry on auto , Durg Police came to help

जरूर देखिये