नम आंखों से दी गई कवि प्रदीप को अंतिम विदाई, देश और दुनिया के जाने माने कवियों और उनके दोस्तों का हुजूम

Reported By: Nasir Gouri, Edited By: Renu Nandi

Published on 13 Apr 2019 12:21 PM, Updated On 13 Apr 2019 12:21 PM


ग्वालियर। अपनी हास्य रचनाओं से सबको हंसाने और गुदगुदाने वाले 70 साल के कवि प्रदीप चौबे का आज अतिम संस्कार ग्वालियर में हो गया है। प्रदीप चौबे के अंतिम संस्कार में देश और दुनिया के जाने माने कवि और उनके दोस्तों का हुजूम भी उनकी शव यात्रा में पहुंचा। बता दें कि प्रदीप चौबे का गुरुवार की देर रात निधन हो गया था। प्रदीप चौबे के करीबी और देश के जाने माने कवि अशोक चक्रधर कहते हैं कि वो जितना लोगों को हंसाते थे, उतना ही अपने अंदर के दुखों को छुपाए रहते थे।
ये भी पढ़ें -नहीं रहे अपने हास्य व्यंग से लोगों को गुदगुदाने वाले कवि प्रदीप चौबे

व्यंग्यकार, कवि और गजलकार प्रदीप चौबे अपनी कविताओं में कॉमेडी के साथ-साथ तीखे व्यंग्य के लिए पहचाने जाते थे। उनकी अधिकतर हास्य कविताओं में रूढ़िवादी मानसिकता पर गहरी चोट होती थी। उनके यूं अचानक चले जाने से साहित्य जगत स्तब्ध है। तो वहीं संपत सरल का कहना है कि कवि और साहित्यकारों ने उनकी गहरी घनिष्टता रही है प्रदीप चौबे जी की। आपको बता दें कि प्रदीप चौबे को श्रद्धांजलि देने के लिए देश के प्रतिष्ठित कवि अशोक चक्रधर, संपत सरल, अरुण जेमिनी, कमलेश शर्मा, मदन मोहन दानिश, अतुल अजनवी सहित सैकड़ों की संख्य़ा में लोग मौजूद थे।

Web Title : farewell to poet Pradeep, given with a humble eyes

जरूर देखिये