महिला कैदी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- यौन संबंध बनाने जेलर बनाते हैं दबाव

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 15 Apr 2019 10:58 PM, Updated On 15 Apr 2019 10:58 PM

नई दिल्ली: मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। दरअसल एक महिला कैदी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर जेलर पर संगीन आरोप लगाए हैं। महिला ने पत्र में लिखा है कि जेलर यहां की महिला कैदियों को शारीरिक संबंध बनाने को मजबूर किया जाता है। वहीं, प. में यह भी लिखा है कि जो कैदी इन चिजों के लिए राजी होती हैं उन्हें विशेश सुविधाएं भी प्रदान की जाती है। बता दें कि बीते दिनों एक शेल्टर होम में नबालिग बच्चियों के यौन शोषण की शर्मनाक घटना हुई थी जिसमें नीतीश कैबिनेट की मंत्री मंजू वर्मा को गिरफ्तार किया गया था फ़िलहाल वो जमानत पर हैं।

Read More: नामांकन रैली में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने खुलेआम लहराए हथियार, अधिकारी बने रहे अनजान

महिला ने पत्र में ​बताया है कि सभी कैदियों को शाम 6 बजे के बाद बैरक में भेज दिया जाता है, लेकिन राइटर को देर रात तक बाहर रहने की छूट मिलती है। इसके बाद महिला बंदियों को देर रात बाहर भेज दिया जाता है। इसके बाद उसका शारीरिक शोषण किया जाता है।


वहीं, महिला कैदी ने जेल अधिक्षक पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्होंने मुझसे और मेरी बेटी से अनाचार करने का प्रयास किया है। इस काम में जेल प्रशासन की महिला कर्मचारी सहित कैदियों ने भी उनका साथ दिया है। 4 मार्च को इनमें से एक महिला सिपाही ने उसकी बेटी को जेल के पदाधिकारी के साथ संबंध बनाने का दबाव डाला। विरोध करने पर इतनी पिटाई की कि वह बेहोश हो गई।

Read More: उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने रमन सिंह पर कसा तंज, बताया फर्जी डॉक्टर

महिला बंदी ने प्रधानमंत्री के अलावा महिला आयोग, मुख्यमंत्री, राज्य के मुख्य सचिव और जेल आईजी को भी पत्र भेजे हैं। इस पत्र के बाद सेक्शन पदाधिकारी जितेंद्र कुमार मंडल ने राज्य के मुख्य सचिव और मुजफ्फरपुर के डीएम से मामले की रिपोर्ट मांगी है। डीएम आलोक रंजन घोष ने 5 सदस्यीय जांच टीम का गठन किया है। टीम एक सप्ताह में रिपोर्ट देगी। महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि देवी ने कहा है कि जांच के बाद दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

Web Title : Female prisoner wrote latter to PM Modi, Says- Jailer attempt rape with prisoner

जरूर देखिये