इंसानों के साथ जेल में सजा काट रही मादा भालू, कात्या की क्या है कहानी.. जानिए

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 16 Apr 2019 01:37 PM, Updated On 16 Apr 2019 01:37 PM

कजाखस्थान। कजाखस्थान में इंसानों के साथ एक मादा भालू उम्रकैद की सजा काट रही है। जेल में मादा भालू 15 साल से कैद है। उसे दो लोगों पर हमला करने के आरोप में उम्र कैद की सजा दी गई है। मादा भालू का नाम ईकैटरीना रखा गया है जिसे कारागर के लोग कात्या के नाम से भी पुकारते हैं।

पढ़ें- पति के दोस्त के साथ रोमांस करते कैमरे में कैद हुई पत्नी, वीडियो देखकर उड़ गए ...

कात्या ने एक कैंप साइट पर दो लोगों पर हमला किया था। कात्या ने एक 11 साल के लड़के के पैर को काट लिया था जबकि एक 28 साल के युवक को मार डाला था। इसके बाद कोर्ट ने कात्या को 15 साल की सजा सुनाई थी। तबसे कात्या जेल में इंसानों के साथ सजा काट रही है। इस जेल में सैकड़ों हत्या के कुख्यात अपराधी भी सजा काट रहे हैं। जेल में कात्या को इंसानों से दूर एक सेल में रखा गया है। कात्या के गुस्सैल रवैये और आसपास कोई जू मौजूद नहीं होने पर कोर्ट ने उसे जेल में रखने का निर्देश दिया। कई सालों तक जेल में रहने के बाद अब प्रशासन कात्या का वंश बढ़ाने की सोच रहा है। कात्या का कृत्रिम गर्भधारण करवाने की तैयारी की जा रही है।

पढ़ें- पाकिस्तानी पायलट्स ने ली राफेल उड़ाने की ट्रेनिंग, फ्रांस का इंकार

जेल अफसरों की माने तो बीते कई सालों में कात्या के व्यवहार में परिवर्त देखा गया है। 15 सालों में वो काफी सामान्य हो गई है। खूंखार कात्या अब फैमलियर होती जा रही है। अधिकारियों की माने तो कैदियों और भालू के बीच काफी अच्छी दोस्ती हो गई है।

Web Title : Feminine bears in prison with humans

जरूर देखिये