Finishing the possibility of Jet airways recovering | जेट के उबरने की संभावना खत्म, कर्जदाता बैंक एनसीएलटी में ले जाने की तैयारी में

जेट के उबरने की संभावना खत्म, कर्जदाता बैंक एनसीएलटी में ले जाने की तैयारी में

 Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 17 Jun 2019 09:23 PM, Updated On 17 Jun 2019 09:23 PM

नई दिल्ली। नकदी संकट के कारण परिचालन बंद करने वाली विमानन कंपनी जेट एयरवेज के उबरने की संभावना खत्म होती नजर आ रही है। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के नेतृत्व वाला बैंकों का कंसोर्टियम इन्वसॉल्वेंसी ऐंड बैंकरप्टसी कोड के तहत जेट को एनसीएलटी में ले जाने की तैयारी कर रहा है।

मामले को आईबीसी के बाहर सुलझाने के कर्जदाता बैंकों का प्रयास विफल होने के कारण यह कदम उठाया जा रहा है। जेट को कर्ज देने वाले बैंकों ने बयान में कहा है कि जेट एयरवेज के भविष्य पर फैसला करने के लिए उसके कर्जदाताओं की आज एक बैठक हुई। कर्जदाताओं ने काफी विचार-विमर्श के बाद मामले का निपटारा आईबीसी के तहत करने का फैसला किया, क्योंकि कंपनी के लिए केवल एक सशर्त बोली आई।

यह भी पढ़ें : चौकी के सामने पोस्ट ऑफिस में चोरी की कोशिश, पुलिस ने दर्ज नहीं किया मामला, महीनों से बंद पड़े हैं सीसीटीवी 

बयान में कहा गया है कि एसबीआई के नेतृत्व वाले कर्जदाता बैंक जेट एयरवेज के लिए आईबीसी के बाहर रेजॉल्यूशन पाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन उपरोक्त कारणों से बैंकों को आईबीसी के तहत ही रेजॉल्यूशन का फैसला करना पड़ा है। गौरतलब है कि नकदी संकट के कारण जेट एयरवेज को बीते 17 अप्रैल को अपना परिचालन बंद करना पड़ा। कंपनी पर 8,500 करोड़ रुपए का कर्ज है और इसकी कुल देनदारी 25 हजार करोड़ रुपये है।

Web Title : Finishing the possibility of Jet airways recovering

जरूर देखिये