अंतागढ़ टेपकांड मामले में एफआईआर, अजीत जोगी, पुनीत गुप्ता, राजेश मूणत और मंतूराम पर केस दर्ज

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 04 Feb 2019 11:09 AM, Updated On 04 Feb 2019 11:09 AM

अंतागढ़। अंतागढ़ टेपकांड मामले में एक बड़ी कार्रवाई करते हुए अजीत जोगी, पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता, राजेश मूणत और मंतूराम पवार पर धोखाधड़ी और पैसों के प्रलोभन और भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत मामला पंडरी थाने में दर्ज किया गया है। वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री डॉ. किरणमयी नायक ने ये एफआईआर दर्ज कराई है। अंतागढ़ टेप कांड मामले में SIT जांच के तहत की गई ये पहली बड़ी कार्रवाई है। इस मामले में शिकायतकर्ता कांग्रेस नेत्री किरणमई नायक का कहना है कि मामले को लेकर 2016 में हमने शिकायत दर्ज कराई थी।

पढ़ें-पांच साल के शौर्य को आरक्षक के रूप में अनुकंपा नियुक्ति, एसपी ने लगाया गले

शिकायत का रिमाइंडर 2017 में पुलिस को दिया गया था। तात्कालिक सरकार ने मामला दर्ज नहीं होने दिया था. तात्कालिक सीएम के परिजन का नाम होने से नहीं हुई थी कार्रवाई। उसी शिकायत को अब री-राइट करके FIR कराया गया है आपको बता दें कि मामला क्या है। दरअसल साल 2014 में अंतागढ़ के तत्कालीन विधायक विक्रम उसेंडी ने लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद इस्तीफा दिया था. वहां हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने पूर्व विधायक मंतू राम पवार को प्रत्याशी बनाया था।

पढ़ें-12 घंटे के भीतर मालगाड़ी के डिब्बे डिरेल होने क...

भाजपा से भोजराम नाग खड़े हुए थे. नाम वापसी के अंतिम वक्त पर मंतूराम ने अपना नामांकन वापस ले लिया था. इससे भाजपा को एक तरह का वाकओवर मिल गया था. बाद में फिरोज सिद्दीकी नाम से एक व्यक्ति का फोन कॉल वायरल हुआ था. आरोप लगे थे कि तब कांग्रेस में रहे पूर्व सीएम अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी ने मंतू की नाम वापसी कराई. टेपकांड में कथित रूप से अमित जोगी और तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता के बीच हुई बातचीत बताई गई थी।

 

 

Web Title : FIR file in Anantgarh case

जरूर देखिये