वन विभाग की अनोखी पहल, 1 लाख औषधीय पौध वितरण करने की बनाई योजना, इन बीमारियों में मिल सकता है घरेलू उपचार

Reported By: Akash Rao, Edited By: Rupesh Sahu

Published on 30 May 2019 04:03 PM, Updated On 30 May 2019 04:03 PM

दुर्ग । वन विभाग लोगों को सामान्य रूप से हो रही बीमारियों से बचाने के लिए एक नई योजना शुरू करने जा रहा है । वन विभाग के द्वारा जनसामान्य को वितरण के लिए 5 ऐसे औषधीय पौधे का चयन किया है जिनमें बीमारी के चलते लोग घर पर ही अपना घरेलु उपचार आसानी से कर सकें। वहीं छोटी मोटी बीमारियों के चलते डॉक्टर के पास जाकर जाकर परेशान होने की अब जरुरत नहीं है। वन विभाग इस योजना के तहत लाखों लोगों लाभान्वित करने की कोशिश कर रहा है।

ये भी पढ़ें- तोमर- प्रहलाद पटेल को आया पीएमओ से कॉल, देखिए- मोदी सरकार का संभावि...

लोगों को स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या से बचने के लिए वन विभाग ने 1 लाख औषधीय पौधे वितरण करने की योजना बनाई है। जिसमें शतावर, गिलोय, एलोविरा, गुडमार, बेल शामिल हैं। सामान्य बुखार ,सर्दी, खांसी, शरीर के दर्द ,पाचन सम्बन्धी से लेकर त्वचा से जुड़ी बीमारियों का निदान इन औषधि पौधे के द्वारा मिल पायेगा।

ये भी पढ़ें- इनडोर प्लांट्स का चलन, घर की सुंदरता बढ़ाने के साथ दिलाता है प्रकृत...

वन विभाग द्वारा इस योजना में स्वास्थ्य विभाग,नगर निगम,पंचायत को शामिल कर उन स्थानों का चयन किया जायेगा जहाँ पर स्वास्थ्य सम्बन्धी बीमारी ज्यादा पाए जाती है। लगभग 20 हजार घरों में इन पौधों का वितरण कर लोगों को इस योजना से जोड़ने की कोशिश की जाएगी। इस योजना से लोगों को बीमारियों के दौरान डॉक्टरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। घरों पर ही छोटी-मोटी बीमारियों का उपचार लोगों को मिल जायेगा । वन विभाग के द्वारा किया जा रहा यह प्रयास सराहनीय है।बता दें कि दुर्ग-भिलाई के निगम क्षेत्र में बीते कुछ माह में मौसमी बीमारी की चपेट में आने से दर्जनों लोगों की मौत हो चुकी है । ऐसे में छोटी बीमारियों में औषधि पौधों का लाभ लेकर लोग अपने आपको स्वस्थ रख पायेंगे।

ये भी पढ़ें- गर्मी के मौसम में त्वचा का रखें खास ख्याल

इन औषधीय पौधे से बीमारियों से मिलेगी निजात

शतावर- महिलाओं के लिए सबसे फायदेमंद माने जाते हैं स्तनपान में दूध की मात्रा को बढ़ने में सहायक, कैंसर के दूर करने में सहायक है शतावर।

गिलोय- आंखों की रोशनी बढ़ाने में सहायक होता है, पाचन तंत्र, मोटापा दूर में सहायक, सर्दी-खासी को दूर करने में सहायक,डेंगू पीड़ित मरीजों के लिए लाभकारी है ।

एलोविरा- जोड़ों का दर्द , त्वचा, चेहरे के दाग-धब्बे को दूर कराने में सहायक, खून की कमी, शुगर लेवल को कम करने में सहायक, बाल को चमकदार और मजबूत करने में सहायक पेट के कब्ज ,बवासीर कष्टदायी रोग को दूर करने में सहायक

गुडमार- मोटापा, पेट दर्द को दूर करने में सहायक, आंखों की समस्या, सांस लेने में हो रही परेशानी को दूर करने में सहायक ।

बेल- बेल के रस के सेवन करने से गैस, कब्ज, दिल से जुड़ी बीमारियों से बचाव, दस्त व डायरिया की समस्याओं से छुटकारा कैंसर से बचाव, शरीर के खून को साफ करने में बेल का रस सहायक है ।

Web Title : Forest Department's unique initiative Home remedies can be found in these diseases

जरूर देखिये