पूर्व सीएम शीला दीक्षित का 81 साल में निधन, उपलब्धियों भरा रहा पूरा जीवन

 Edited By: Rupesh Sahu

Published on 20 Jul 2019 07:58 PM, Updated On 20 Jul 2019 07:58 PM

नई दिल्ली। पूर्व मुख्यमंत्री और दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित का देहावसान हो गया है। शनिवार सुबह उन्हें अस्वस्थ महसूस होने पर दिल्ली के फोर्टीज़ एस्कॉर्ट अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। फोर्टीज़ एस्कॉर्ट अस्‍पताल ने अपने मेडिकल बुलेटिन में कहा, ‘शीला दीक्षित को कार्डिएक अरेस्ट के बाद गंभीर हालत में शनिवार सुबह ओखला स्थित फोर्टीज़ एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉ अशोक सेठ के नेतृत्व में उनका इलाज़ चल रहा था और दोपहर तक उनकी स्थिति ठीक भी हो गई थी। इस दौरान एक बार फिर से उनका कार्डिएक अरेस्ट हुआ और शाम 3 बूजकर 55 पर उनका निधन हो गया.’

शीला दीक्षित लगातार तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं हैं। वो 1998 से लेकर 2013 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। माना जाता है कि आधुनिक दिल्ली के निर्माण में शीला दीक्षित की भूमिका महत्वपूर्ण थी।


ये भी पढ़ें- दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का निधन, लंबे वक्त से बीमार चल रही थीं

शीला दीक्षित का राजनीतिक करियर

शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था। उन्होंने दिल्ली के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से पढ़ाई पूरी की और फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस कॉलेज से मास्टर्स ऑफ आर्ट्स की डिग्री हासिल की। शीला दीक्षित साल 1984 से 1989 तक उत्तर प्रदेश के कन्नौज से सांसद रहीं । बतौर सांसद वह लोकसभा की एस्टिमेट्स कमिटी का हिस्सा भी रहीं थी।

शीला दीक्षित ने महिलाओं की स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र आयोग में 5 साल (1984-1989) तक भारत का प्रतिनिधित्व किया। वह पीएमओ में 1986 से 1989 तक संसदीय कार्यराज्यमंत्री भी रहीं ।


ये भी पढ़ें- कांग्रेस नेता की दिनदहाड़े हत्या, घर का दरवाजा खोलते ही बदमाशों ने ...

साल 1998 के लोकसभा चुनावों में शीला दीक्षित को बीजेपी के लाल बिहारी तिवारी ने पूर्वी दिल्ली क्षेत्र से हराया था। लोकसभा चुनाव में हार के बाद वह मुख्यमंत्री बनीं। शीला दीक्षित गोल मार्केट क्षेत्र से 1998 और 2003 से चुनी गईं। इसके बाद 2008 में उन्होंने नई दिल्ली क्षेत्र से चुनाव लड़ा। शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित कांग्रेस के बड़े नेता है,कांग्रेस से सांसद रह चुके हैं। उनकी एक बेटी भी है जिसका नाम लतिका सैयद है।


कांग्रेस में शीला दीक्षित की मजबूत पकड़ रही है। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले राज्य में कांग्रेस की हालत बेहतर करने के लिए शीला दीक्षित को दोबारा से सक्रिय किया गया था। शीला दीक्षित के पास फिलहाल पास कांग्रेस के दिल्ली अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी भी थी। लोकसभा चुनाव 2019 में वो उत्तर पूर्वी दिल्ली से चुनाव भी लड़ीं थी, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली।


Web Title : Former CM Sheila Dikshit dies in 81 years

जरूर देखिये