EOW के इंस्पेक्टर पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज, जब्त माल गबन करने का आरोप.. देखिए

Reported By: Tehseen Zaidi, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 19 Jun 2019 08:32 AM, Updated On 19 Jun 2019 08:16 AM

रायपुर। ईओडब्ल्यू में पोस्टेड इंस्पेक्टर जीवन प्रसाद कुजूर पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। सिविल लाइन थाने में एसआई रहते हुए जब्त माल गबन करने का आरोप है। मामला साल 2010-11 का है जब धोखाधडी के आरोप में पंडरी निवासी अमरनाथ नामक एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया था। मामले की विवेचना जीवन प्रकाश कुजूर कर रहे थे। आरोपी के पास से पुलिस ने हीरे की अंगुठी, सोने की चेन समेत करीब 5 लाख रूपये कीमत के जेवर बरामद किए थे जिसकी रसीद भी तात्कालिक एसआई जीवन ने आरोपी को दी थी। लेकिन जब आरोपी पूरे मामले से कोर्ट से दोषमुक्त होकर अपना सामान लेने थाने पहुंचा तो उसका सारा सामान मालखाने में नहीं मिला और न ही मालखाने के रजिस्टर में उसके कीमती सामान का उल्लेख किया गया था।

देखें वीडियो-

पढ़ें- वनवासियों के लिए प्रदेश सरकार की बड़ी सौगात, पौष्टिक आहार और हॉट बा..

इस दौरान विवेचक जीवन प्रकाश कुजूर का तबादला सिविल लाइन से आर्थिक अपराध ब्यूरो EOW में हो गया था। पीड़ित अमरनाथ पिछले कई महीनों से थाने समेत पुलिस अधिकारियों के चक्कर काट रहा था। बताया जा रहा है कि पीड़ित को जीवन के EOW तबादला होने की खबर लगी तो वो EOW मुख्यालय जाकर वरिष्ट अधिकारियों से भी इस मामले की शिकायत की जिसके बाद चेक के माध्यम से आरोपी एसआई जीवन प्रकाश कुजूर ने पीड़ित को करीब 25 हजार रूपये भी दिए।

पढ़ें- 90 बिजली ऑपरेटर्स ने काम बंद किया, 6 माह से नहीं मिला है वेतन, कलेक...

काफी भटकने का बाद पीड़ित ने डीजीपी से भी इसकी शिकायत की तो उन्होंने जीवन प्रकाश कूजूर के खिलाफ एसएसपी रायपुर को FIR दर्ज करने के निर्देश दिए। बाद में सिविल लाईन थाना पुलिस ने इंस्पेक्टर जीवन प्रकाश कुजूर के खिलाफ अमानत में खयानत की धारा 409 के तहत मामला दर्ज कर पूरे मामले की जांच कर रही है। फिलहाल पुलिस विभाग के इंस्पेक्टर पर आरोप होने के कारण इस मामले में विभाग का कोई भी अधिकारी और कर्मचारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। यहां तक पुलिस के ऑनलाइन FIR पोर्टल में इस पूरे मामले को सेंसेटिव मामला बताकर उसको लॉक कर दिया गया है।

केंद्रीय मंत्री के बेटे और भतीजे के खिलाफ FIR, युवक से मारपीट और फायरिंग का आरोप

Web Title : Fraud case on EOW inspector

जरूर देखिये