गोवा महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित, बिहार सबसे असुरक्षित

Reported By: Renu Nandi, Edited By: Renu Nandi

Published on 02 Nov 2017 01:16 PM, Updated On 02 Nov 2017 01:16 PM


महिला और बाल विकास मंत्रालय  द्वारा चल रहे अभियान  ""योजना भारत" के हिसाब से गोवा को महिलाओ के लिए सबसे सुरक्छित में शीर्ष स्थान प्रदान किया गया है शीर्ष ब्रैकेट में, केरल, मिजोरम, सिक्किम और मणिपुर जैसे राज्यों ने खुद को मजबूत किया है वही है बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश (यूपी) और दिल्ली को रैंकिंग में लड़कियों के लिए सबसे अधिक संवेदनशील बताया गया है।  रिपोर्ट के मुताबिक, इस तरह के सूचकांक में शिक्षा, स्वास्थ्य, गरीबी और हिंसा से संरक्षण के रूप में महिलाओं को ध्यान में रखते हुए किसी भी शहर  को रैंकिंग प्रदान की जाती है।
 यह रिपोर्ट लिंग वुल्बरबिलिटी इंडेक्स (जीवीआई) ने अपने सर्वे के आधार पर दी है जिसमे महिलाओं की सुरक्षा पर  गोवा को सुरक्षित स्थान के रूप में दर्जा दिया गया है, जिसमें उसने 0.656 अंक अर्जित किए हैं। पर्यटन ,शिक्षा,  स्वास्थ्य और गरीबी में गोवा को अलग अलग रेंक प्राप्त हुआ है।वही केरल को स्वास्थ्य के क्षेत्र में शीर्ष स्थान पर रखा गया है। जिसका जीवीआई 0.634 है जो  राज्य को स्वास्थ्य के क्षेत्र में  उचाईयों को प्राप्त किया है वही बिहार की जीवीआई रिपोर्ट 0.410 है,जिसमे स्वास्थ्य,लड़कियों की सुरक्षा और शिक्षा के आधार पर उसे सबसे कम रेंक प्राप्त हुए है अर्थात बिहार आज भी महिलाओ के लिए
असवेदनशील इलाका है
योजना भारत द्वारा विचारित रैंकिंग के लिए एक और पहलू बाल विवाह था जिसके तहत  प्लान इंडिया ने एक  सर्वेक्षण किया और  पाया की 39 प्रतिशत से अधिक लड़कियों का 21 वर्ष की आयु से पहले विवाह हुआ, जबकि लगभग 1 9% लड़कियों ने 1 9 वर्ष की आयु से पहले बच्चे को  जन्म दिया है।
 भारत की राजधानी दिल्ली का  जीवीआई 0.436 है। शिक्षा और संरक्षण में रिकॉर्ड के कारण दिल्ली का सूचकांक गिर गया है। जबकि  झारखंड का स्थान दिल्ली और उत्तर प्रदेश से ऊपर है.

Web Title : Goa sefest foe woman ,bihar most unsefe

जरूर देखिये