आदिवासी युवकों का कमाल, गिल्ली डंडा में देश को दिलाया गोल्ड, नेपाल, भूटान और बांग्लादेश को हराया

 Edited By: Abhishek Mishra

Published on 11 Jan 2019 12:19 PM, Updated On 11 Jan 2019 12:19 PM

मण्डला। बालाघाट जिले के दो आदिवासी युवक एवं एक युवती ने नेपाल के काठमांडू में आयोजित अंतराष्ट्रीय खेल स्पर्धा में गिल्ली डंडा ( टिप केट ) खेल में देश का मान बढ़ाया है। अदिवासी युवकों ने नेपाल, भूटान ओर बांग्लादेश की टीमों को हराकर गोल्ड मेडल हासिल किया है ।

पढ़ें- कमलनाथ ने कहा- ये तो केवल ट्रेलर है, अभी तो बीजेपी के बहुत से खुलासे होना बाकी

नेपाल के काठमांडू में इस लुप्तप्राय हो चुके खेल में अपना लोहा मनवाने ओर विजेता बनने के बाद अपने गृह क्षेत्र बैहर, परसवाड़ा ( बालाघाट ) पहुंचे इन खिलाड़ियों का जोरदार स्वागत हुआ । गांव के खेल गिल्ली, डंडा के प्रति रुझान ओर इस कीर्तिमान के संबंध में खिलाड़ियों का कहना है कि इन्होंने यह खेल को अपने पूर्वजों से सीखा और इस खेल में इतिहास रचने व अपने देश का नाम रोशन करने की इनकी तमन्ना थी जो आज इन्होंने पूरी की । इन खिलाड़ियों का कहना है कि सरकार अन्य खेलों की तरह इस खेल को भी बढ़ावा दे और खिलाड़ियों को सुविधाएं प्रदान करें । इन धुरंधरों का स्वागत कर स्थानीय जान अभिभूत है और इनकी प्रशंसा करते नहीं थक रहे । गौरतलब है कि उक्त प्रतियोगिता नेपाल के काठमांडू में 28 दिसम्बर से 2 जनवरी तक चली ।

Web Title : Gold brought to the country in Gilli Danda

जरूर देखिये