दंतेवाड़ा के पूर्व कलेक्टर सौरभ कुमार के खिलाफ करोड़ों की गड़बड़ी का मामला, कार्रवाई के आदेश

 Edited By: Deepak Dilliwar

Published on 11 Jul 2019 06:06 PM, Updated On 11 Jul 2019 06:06 PM

दंतेवाड़ा: जिले के पूर्व कलेक्टर सौरभ कुमार के खिलाफ बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ है। सरकार ने सौरभ कुमार के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। बताया जा रहा है कि सौरभ कुमार ने पद पर रहते हुए करोड़ों रूपए की गड़बड़ी की है। मामले को लेकर कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने शासन को लिखा पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की थी।

Read More: क्या मेजबान इंग्लैंड को मिलेगा फाइनल का टिकट या फिर ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड के बीच होगी खिताबी भिड़ंत

मिली जानकारी के अनुसार कलेक्टर सौरभ कुमार ने डीएमएफ से मिले करोड़ों रूपए की गड़बड़ी है। सौरभ कुमार ने लाइवलीहूड कॉलेज में महिलाओं की आजीविका के लिए खोले गए गारमेंट स्टोर को बिना सामान सप्लाई किए ही करोड़ों रूपए का भुगतान किया गया है।

Read More: जल शक्ति अभियान में छत्तीसगढ़ के 2 जिलों को किया गया शामिल, पानी बचाने किए जाएंगे विशेष प्रबंध

गौरतलब है कि सौरभ कुमार ने अपने कार्यकाल के दौरान विधानसभा चुनाव के ठीक पहले शक्ति गारमेंट नाम की संस्था को करोड़ों रूपए स्विकृ​त किए, जबकि शक्ति गारमेंट ने सामान की सप्लाई ही नहीं किया था। सबसे पहले 120 महिलाओं को सिलाई की ट्रेनिंग देने के लिए 15 जून 2018 को एक करोड़ 60 लाख की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई। इसके एक दिन बाद ही यानि 15 जून को इसका कार्य आदेश जारी किया गया। गौर करने वाली बात यह है कि फंडिंग के महज 17 दिन बाद 2 जुलाई 2018 को सप्लायर ने जिला प्रशासन से 350 अतिरिक्त महिलाओं की क्षमता वृद्धि का प्रपोजल देकर इसके लिए पांच करोड़ 24 लाख की और मांग कर दी। सप्लायर के इस प्रपोजल पर कलेक्टर ने भी 4 जुलाई को मुहर लगा दी साथ ही 1 करोड़ रूपए की ​एडवांश राशि की भी स्वीकृति दी गई। सोचने वाली बात यह है कि 120 महिलाओं की ट्रेनिंग पूरी हुई नहीं और जिला प्रशासन ने 350 महिलाओं की क्षमता और बढ़ा दी।

Read More: पूर्व मुख्यमंत्री के बेटे ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- पार्टी जो कर रही है वो पिताजी का रास्ता नहीं था

Web Title : Government issued order action against former dantewada collector ias saurabh kumar

जरूर देखिये