भगवान गणेश के विवादित विज्ञापन को लेकर बढ़ता आक्रोश, भारत ने ऑस्ट्रेलिया से जताया विरोध

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 12 Sep 2017 04:52 PM, Updated On 12 Sep 2017 04:52 PM


भगवान गणेश को मांसाहार करते दिखाए जाने वाले एक विज्ञापन को लेकर भारत ने ऑस्ट्रेलियाई कंपनी के खिलाफ गहरा आक्रोश जताया है। कैनबरा स्थित भारतीय उच्चायोग ने ऑस्ट्रेलिया के 3 सरकारी विभागों, फॉरेन अफेयर्स, कम्युनिकेशंस और ऐग्रिकल्चर डिपार्टमेंट को 'मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया' के विवादित ऐड के खिलाफ विरोधपत्र भेजते हुए इस मामले में फौरन कार्रवाई करने को कहा है. भारतीय उच्चायोग ने बताया है कि सिडनी में भारत के महावाणिज्य दूत ने इस मामले को सीधे मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया के समक्ष उठाते हुए उनसे इस ऐड को हटाने की मांग की है. भारत के जरिए दिए गए विरोधपत्र में कहा गया है कि इस विज्ञापन से भारतीय समुदाय की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं।

दरअसल गणेश चतुर्थी के कुछ दिन बाद ही ये विवादित विज्ञापन सामने आया था, जिसे लेकर सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रिया जताई जा रही है और भारतीय उच्चायोग ने अब इसी पर संज्ञान लिया है। इस विज्ञापन में भगवान गणेश के साथ ईसा मसीह और गौतम बुद्ध सहित कई धर्मों और मान्यताओं के धार्मिक प्रतीक खाने की मेज के चारों तरफ बैठे हुए दिख रहे हैं। खाना खाते हुए ये आपस में बातें कर रहे हैं। इन्हीं बातों में हजरत मोहम्मद का जिक्र भी आता है कि वह इस भोज में शामिल नहीं हो सके। स्वाभाविक है कि इस विज्ञापन के जरिये धार्मिक भावनाओं को आहत करने की कोशिश की गई है। हिंदू धार्मिक मान्यताओं में भगवान गणेश का विशेष स्थान है और इन्हें विघ्नहर्ता के रूप में पूजा जाता है, यहां तक कि हर पूजा में भगवान गणेश की पूजा सबसे पहले की जाती है, ऐसे में इस विवादित विज्ञापन को लेकर आक्रोश लगातार बढ़ता जा रहा है और भारतीय उच्चायोग को इसमें दखल देना पड़ा है।

Web Title : Growing indignation over Lord Ganesh's disputed advertisement, India protested to Australia

जरूर देखिये