झारखंड में भूख ने निगल ली 13 साल की बच्ची की जान, जुलाई से नहीं मिला था राशन

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 23 Oct 2017 10:22 AM, Updated On 23 Oct 2017 10:22 AM

 

झारखंड के सिमडेगा में भूख से तड़पती एक 11 साल की बच्ची की मौत हो गई.  पीड़ित परिवार के मुताबिक उसे जुलाई से राशन नहीं मिला था। आधार से लिंक नहीं रहने के कारण उस परिवार का राशन कार्ड रद कर दिया गया था। 

 

वहीं इस मामले में अधिकारी द्वारा कराई गई जांच में मौत की वजह मलेरिया को बताया गया था। इस रिपोर्ट के बाद सीएम ने स्वयं उपायुक्त को जाकर जांच करने को कहा और 24 घंटे में रिपोर्ट तलब की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घटना से उन्हें अत्यधिक पीड़ा हुई है और उन्होंने तत्काल 50 हजार रुपये की सहायता राशि बच्ची के परिजनों को देने का निर्देश दिया।

अब इस मामले में मंत्री, अधिकारियों पर ठीकरा फोड़ रहे हैं. दरअसल बीते दिनों मुख्य सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए उन लोगों के राशन कार्ड रद्द करने के निर्देश दिए थे जिनके राशन कार्ड आधार से लिंक नहीं हुए हैं. 

वहीं इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, सरयू राय ने कहा कि मैंने अपने अधिकारियों से अपील की थी कि आधार लिंक ना होने की वजह से किसी का राशन कार्ड रद्द ना किया जाए. 

जानिए पूरा मामला

सिमडेगा में गरीबी से त्रस्त 11 साल की संतोषी की पिछले दिनों मौत हो गयी थी. संतोषी एक बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती थी. गरीबी के कारण उसे पढ़ाई छोड़ बकरी चराने पर विवश होना पड़ा था. बकरी चराने के एवज में उसे एक शाम का खाना मिल जाता था लेकिन बीमार होने के कारण वह बकरी चराने नहीं जा पा रही थी जिसके वजह से उसे एक शाम का भी खाना नसीब नहीं हुआ.

Web Title : Hunger in Jharkhand swallows 13-year-old girl

जरूर देखिये